राज्य में बढ़ते जातिवाद को लेकर अनुसूचित जाति आयोग अध्यक्ष को भेजा ज्ञापन : रवि कुमार दलित


भीम आर्मी एकता मिशन द्वारा प्रदेश अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष वीरेंद्र कश्यप को एक ज्ञापन भेजा। जिसमें प्रदेश में अनुसूचित जाति जनजाति समाज पर लगातार बढ़ रहे अत्याचार के मामलों को उजागर किया गया है, जिसमें हाल ही में कुल्लू ,मंडी ,सिरमौर सहित अन्य जिले शामिल हैं।

भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष रवि कुमार दलित ने इस बारे प्रैस को विज्ञप्ति जारी करते हुऐ बताया कि प्रदेश में लगातार बढ़ रहे दलित उत्पीड़न मामलों को लेकर भीम आर्मी व अन्य अनुसूचित जाति जनजाति संगठन चिंतित है। जिसको लेकर माननीय अध्यक्ष अनुसूचित जाति आयोग को उनके निवास स्थान पर ज्ञापन भेजा गया है।

रवि कुमार दलित ने कहा कि प्रदेश में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा जातिय दंगे भड़काने की लगातार कोशिश की जा रही है। एट्रोसिटी एक्ट को काला कानून बताने का अपराध किया जा रहा है। जो कानून संविधान द्वारा अनुसूचित जाति जनजाति पर हो रहे अत्याचारों हेतु बनाया गया है। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा अन्य वर्ग समाज के कल्याण हेतु भी राजपूत कल्याण बोर्ड की स्थापना की गई है और ब्राह्मण समाज के कल्याण हेतु ब्राह्मण कल्याण बोर्ड की स्थापना की गई है। इन वर्गों के विकास हेतु 10 % आरक्षण भी प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान किया गया है, परन्तु कुछ असमाजिक तत्व आपसी भाईचारे को समाप्त कर लोगों को भड़का कर जातिय दंगे भड़काने की फिराक में है।

यह असामाजिक लोगों को गुमराह कर रहे हैं, जो प्रदेश के हित में लाभकारी नहीं है। कई दशकों से सभी जाति समाज के लोग आपसी सौहार्द व आपसी भाई चारे के साथ सामाजिक समरसता से रहते चले आ रहे हैं। परन्तु कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा राजनैतिक लाभ हेतु सामान्य समाज को गुमराह कर भड़काया जा रहा है। जबकि वह जानते हैं कि वह जो कर रहे हैं वह केवल राजनीतिक स्वार्थ साधना है। जबकि संविधान अनुसार वह गैर कानूनी है। जिस पर सरकार व पुलिस प्रशासन को तुरंत प्रभाव से कारवाही की जानी चाहिए अन्यथा भीम आर्मी एकता मिशन प्रदेश के सभी दलित संगठनों को लेकर सड़कों पर उतरेगी ।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!