Treading News

Petrol Pump Scam: शिमला में हिमफेड पेट्रोल पंप में हुए 1.30 करोड़ के घोटाले में मैनेजर गिरफ्तार, जाने क्या है मामला

हिमाचल प्रदेश में शिमला जिले के उपमंडल ठियोग के जगेड़ी हिमफेड पेट्रोल पंप में हुए 1.30 करोड़ रुपये के घोटाले में नामजद मार्केटिंग मैनेजर मूलराज और लिपिक सुनील कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

दोनों ने शुक्रवार को हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी। न्यायाधीश विवेक सिंह की ओर से जमानत याचिका खारिज होने के बाद पुलिस ने इन्हें कस्टडी में लिया है। गौर हो कि ऊपरी शिमला के ठियोग में एकमात्र पंप हुआ करता था। लोगों की परेशानियों को देखते हुए करीब तीन साल पहले हिमफेड ने जगेड़ी के पास पंप खोला। वाहन मालिकों को इस पंप से पेट्रोल और डीजल की सुविधा उपलब्ध होनी लगी। कुछ समय बाद पंप बंद हो गया।

लोगों ने जब बंद होने का कारण पूछा तो कर्मियों ने बताया कि तेल की गाड़ी नहीं आई है, लेकिन उस समय इस पंप की विभागीय जांच चल रही थी। हिमफेड ने थाने में इसे लेकर शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद मामले की जांच शुरू हुई। जांच में हिमफेड के एरिया इंचार्ज ने तीन माह की खाता पड़ताल में पाया कि करीब 1.30 करोड़ रुपये का गबन हुआ है। पुलिस मुख्यालय ने मामले की जांच करने के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। एसपी शिमला मोनिका भुटुंगरु की अध्यक्षता में एसआईटी बनाई गई है। एसपी क्राइम वीरेंद्र कालिया, अतिरिक्त एसपी साइबर क्राइम नरवीर सिंह राठौर और डीएसपी सिटी शिमला मंगतराम को सदस्य बनाया गया है।