Treading News

मंडी जिला में मुख्यमंत्री स्वालम्बन योजना के तहत 321 लोगों को ऋण स्वीकृत

मंडी। मंडी जिला में वर्ष 2021-22 में मुख्यमंत्री स्वालम्बन योजना के तहत बैंकों द्वारा 321 लोगों को ऋण स्वीकृत किए गए, जिसमें से 300 लोगों को 9 करोड़ 66 लाख रुपये की राशि सबसिड़ी के रूप में प्रदान की गई ।  योजना के तहत मंडी जिला में चालू वित्त वर्ष में 10 करोड़ 50 लाख रुपये व्यय करने का प्रावधान किया गया है । यह जानकारी सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा चलाए जा रहे विशेष प्रचार अभियान के तहत आज सुन्दरनगर विकास खंड के बोबर व कंधार, सदर के रंधाड़ा व पधीयूं, बल्ह के बैहल व कसारला, गोहर के चैलचौक व गणई, धर्मपुर के स्योह व बहरी, करसोग के नांज व परलोग, सराज के तुंगाधार व जंजैहली, बालीचौकी के देवधार व माणी, गोपालपुर चौरी व रिस्सा तथा दं्रग के सियूण व बल्ह में आयोजित कार्यक्रमों में कलाकारों द्वारा लोगों को गीत-संगीत व नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दी गई ।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना में बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार लगाने के लिए सरकार की ओर से वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। एक करोड़ रुपये लागत तक की परियोजनाओं पर महिलाओं को 30 प्रतिशत तथा पुरूषों को 25 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है। कार्यक्रमों में कलाकारों ने लोगों को बताया कि स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना में पहले की गतिविधियों के साथ अब उन्नत डेयरी विकास, दूध व दुग्ध उत्पादों के लिए कोल्ड स्टोरेज सुविधाओं की स्थापना, कृषि उपकरणों व औजारों का निर्माण तथा रेशम प्रसंस्करण इकाई जैसी 18 नई गतिविधियां भी सम्मिलित की हैं। साथ ही सरकार ने महिलाओं के लिए पात्रता आयु 45 से बढ़ा कर 50 साल कर दी है ।  

29 मई के कार्यक्रम
29 मई को सुन्दरनगर विकास खंड के चुरढ़ व सलवाणा, सदर के कोट तुंगल व कोटली, बल्ह के सकरोहा व गागल, गोहर के बस्सी व  कोटला, धर्मपुर के धलारा व संधोल, करसोग के ठाकरठाणा व शाहौट, सराज के ढीमकटारू व  संगलवाड़ा, बालीचौकी के लगडयाणा व पंजाई, गोपालपुर रोपड़ी व झंझेल तथा दं्रग के वह व कुफरी में कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे ।