किसान सम्मान निधि घोटाले में 14 लाख की रिकवरी; कांगड़ा

कांगड़ा में किसान सम्मान निधि गबन मामले में प्रशासन ने रिकवरी की पूरी कोशिशें शुरूनकर दी है। विभाग ने किसानों के सम्मान का पैसा खाने वाले सरकारी कर्मियों की तहसील स्तर पर सूचियां बना ली है। अब तक प्रशासन ने दो करोड़ 52 लाख चार हजार रुपये में से 14 लाख 22 हजार की रिकवरी कर ली है। शेष सरकारी कर्मचारियों से रिकवरी करने की पूरी कोशिश की जा रही है। आज तक कांगड़ा के 128 सरकारी कर्मियों और करदाताओं ने हड़प की गई राशि को जमा कर दिया है। सरकारी कर्मचारियों और करदाताओं में से 128 लोगों ने 14 लाख 22 हजार रुपये प्रशासन के पास जमा करवाए हैं। किसान निधि जमा करवाने के मामले में बैजनाथ तहसील के सरकारी कर्मचारी और करदाता सबसे आगे है। बैजनाथ से अभी तक 36 सरकारी कर्मियोें और करदाताओं ने चार लाख 60 हजार रुपये जमा करवा दिए हैं। लेकिन अभी कुछ जगह ऐसी भी है जहां किसी ने कोई क़िस्त जमा नही करवाई है।

इस मामले में उपायुक्त कांगड़ा का कहना है कि किसान निधि फर्जीवाड़े में अभी तक 14 लाख 22 हजार की रिकवरी की गई है। यह पैसा सीधे केंद्र सरकार के खाते में जाएगा। रिकवरी अभियान आगे भी जारी रहेगा। तहसील स्तर पर किसानों का पैसा डकारने वाले सरकारी कर्मियों से रिकवरी का जा रही है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!