किन्नौर में सिक्योरिटी गार्ड की गोली लगने से मौत, जंगल में मिला शव

0
76

रिकांगपिओ: जिला किन्नौर के पर्यटन स्थल कल्पा के अंतर्गत चुंगलिंग चाका-कण्डा संपर्क मार्ग पर जंगल में कांगड़ा जिला के सिक्योरिटी गार्ड की गोली लगने से मौत होने का मामला सामने आया है।

पुलिस ने घटनास्थल से मृतक की लाइसैंसी पिस्टल भी बरामद की है। प्रारम्भिक जांच में यह आत्महत्या का मामला बताया जा रहा है परन्तु फिर भी मौत के सही कारणों का पता लगाने के लिए पुलिस द्वारा गहनता से मामले की छानबीन की जा रही है।

मृतक की पहचान अजय कुमार (40) पुत्र करतार सिंह गांव मढोल डाकघर मस्तगढ़ तहसील ज्वाली जिला कांगड़ा के रूप में हुई है। वह एचपी पीसीसीएल कम्पनी के विद्युत सब स्टेशन बौक्टू (रिकांगपिओ) में बतौर सिक्योरिटी गार्ड तैनात था। जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि चाका-कण्डा संपर्क मार्ग पर आकटंग नामक स्थान पर जंगल मे किसी व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है, जिस पर डीएसपी हैडक्वार्टर नवीन जाल्टा पुलिस टीम सहित मौके पहुंचे तथा मामले की गहनता से छानबीन की। छानबीन के दौरान पाया गया कि मृतक की दाईं कनपटी पर गोली लगी है। वहीं घटनास्थल पर मृतक की लाइसैंसी पिस्टल व बाइक भी बरामद हुई है।

डीएसपी हैडक्वार्टर ने बताया कि अजय कुमार मंगलवार को अपने घर ज्वाली कांगड़ा से दोपहर 1 बजे के करीब अपने परिवार सहित रिकांगपिओ पहुंचा था। उसके उपरांत रात 10 बजे के बाद क्वार्टर से अपनी बाइक पर सवार होकर चुंगलिंग चाका की ओर रवाना हुआ था। प्रारंभिक जांच के अनुसार अजय कुमार ने अपनी लाइसैंसी पिस्टल से खुद को गोली मारी है। मृतक के मोबाइल की कॉल डिटेल भी खंगाली जा रही है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मृतक के परिजनों को सूचित कर दिया है। उन्होंने बताया कि शव को क्षेत्रीय अस्पताल रिकांगपिओ में पोस्टमार्टम के उपरांत शिमला भेजा जाएगा तथा पोस्टमार्टम रिपोर्ट व जांच पड़ताल के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल पाएगा।

समाचार पर आपकी राय: