कांगड़ा पुलिस ने ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री को सुलझाया, ज्वैलर की हत्या करने वाले आठ अपराधी गिरफ्तार

हिमाचल के जिला कांगड़ा के बनोई में एक ज्वैलर के साथ बंदूक के नोक पर हुए लाखों के लूटपाट के ब्लाइंड केस को पुलिस ने सुलझा लिया है। मामले में पुलिस ने आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसमें मुख्य आरोपी सहित उन्हें स्पोर्ट करने वाले आरोपी शामिल हैं। आरोपियों को जम्मू कश्मीर से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों में मुख्य आरोपी विशाल वर्मा, राकेश कुमार उर्फ़ टोनी, सन्नी शर्मा और प्रिंस कुमार शामिल थे।

इसके अतिरिक्त इनके सहयोगी लाल हुसैन, ज्योति शर्मा, वरुण खजुरिया और विजय कुमार शामिल थे को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। इनमें से कुछ आरोपी हत्या व लूटपाट के मामले में पंजाब और जम्मू-कश्मीर पुलिस को भी वांछित थे।

बता दें कि जिला कांगड़ा के पुलिस स्टेशन गगल के तहत पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर शाहपुर के बनोई में बंडी गांव स्थित घर जा रहे ज्वैलर की आंखों में मिर्च पाउडर डाल कर लूटपाट का मामला 22 अप्रैल 2021 की शाम को अंजाम दिया गया था। इस दौरान आरोपियों ने रिवाल्वर से फायरिंग भी की थी। आरोपियों ने करीब दो से तीन किलो सोना और 20 से 25 किलो चांदी की लूट की थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। वहीं, 38 पुलिस अधिकारियों की एक टीम का गठन किया। जांच के दौरान पुलिस को कोटला के पास दो लावारिस बाइक भी मिली थीं। पुलिस ने लूटपाट के ब्लाइंड मामले में जम्मू-कश्मीर से पहले 4 आरोपितों को गिरफ्तार किया। उन्हीं की शिनाख्त पर 4 अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर वारदात में इस्तेमाल किए गए दो रिवाल्वर और लूटी साढ़े तीन किलो चांदी भी बरामद की है।

एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि 22 अप्रैल की शाम को पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर शाहपुर के बनोई में रत्न चंद एंड सन्स के मालिक शम्मी निवासी नागनपट्ट बंड़ी रोजाना की भांति अपनी दुकान बंद करके सोना-चांदी के गहने लेकर स्कूटी पर अपने घर जा रहे थे। उनके साथ उनका कारीगर दिलीप कुमार निवासी कोलकाता भी था। अभी वे कुछ ही दूरी पर पहुंचे थे कि बाइक पर दो-तीन युवक आए, जिन्होंने पहले स्कूटी को टक्कर मारकर गिरा दिया तथा मारपीट करके पिस्टल से हवा में फायर कर गहने के बैग छीन कर भाग गए। इस दौरान उन्होंने दिलीप कुमार की आंखों में मिर्ची का पाउडर डालकर उसके साथ भी मारपीट की। घटना के कुछ देर बाद स्थानीय लोगों ने दोनों को कांगड़ा स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां वे उपचारधीन हैं। ज्वैलर के बैग में 2 से 3 किलो सोना आभूषण, 20 से 25 किलो चांदी व 2 से तीन लाख नकदी थी। मामले में पुलिस ने एक टीम गठित की। टीम ने कड़ियों को जोड़ते हुए ब्लाइंज मामले को सुलझा लिया। एसपी ने कहा कि मामले में जम्मू कश्मीर पुलिस का भी सहयोग रहा। पुलिस ने जम्मू-कश्मीर के कठुआ और सांबा क्षेत्र के चार लोगों को गिरफ्तार किया। उन्होंने मामले सुलझाने के लिए टीम को बधाई दी है।

error: Content is protected !!