कुल्लू; धर्म परिवर्तन कर जसवंत बन गया जुनैद, पत्नी पर धर्म परिवर्तन के लिए डाला दबाब, एफआईआर दर्ज

कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में एक पत्नी ने पति पर धर्म परिवर्तन करने के लिए दवाब बनाने का आरोप लगाया है. पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. कुल्लू पुलिस ने मोहम्मद जुनैद के खिलाफ केस दर्ज किया है.

जानकारी के अनुसार, कुल्लू के शमशी की महिला ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 2008 में उसकी शादी जसवंत राय के साथ हुई परिवारों की आपसी रजामंदी से हुई. हिंदू रीति-रिवाज के साथ दोनों ने सात फेरे लिए. जसवंत राय पंजाब के फगवाड़ा का रहने वाला है और कुल्लू एनएचपीसी में मैनेजर था. वह पार्वती प्रोजेक्ट में तैनात था. साल 2012-2013 में उसकी तैनाती कश्मीर के बांदीपूरा में हुई. परिवार वहां चला गया. साल 2015 में एक बेटी पैदा हुई. इस बीच जसवंत राय मुस्लिम धर्म को मानने लगा. महिला को धमकाया कि यदि बेटी को हिन्दू धर्म सिखाया तो दोनों को खत्म कर देगा.

महिला ने लगाए गंभीर आरोप
इसके बाद से लगातार महिला को मुस्लिम रिति-रिवाज पहनावा आदि अपनाने के लिये तंग करने लगा. साल 2017 में दोबारा इसका तबादला पार्वती प्रोजेक्ट में हुआ और परिवार कश्मीर से भुन्तर (शमशी) आकर रहने लगा. महिला ने आरोप लगाया है कि उसे व बेटी को मुस्लिम धर्म अपनाने का दवाब बनाने के लिए कई प्रकार से प्रताड़ित किया. महिला को खर्चा देना बन्द करके भी दबाव बनाया. अधिकारिक तौर पर पति ने जुलाई 2021 में धर्म बदलकर अपना नाम मुहम्मद जुनैद दर्ज करवा लिया, लेकिन महिला अपना धर्म नहीं बदलना चाहती थी और अब उसने पुलिस के पास शिकायत दी है. भुन्तर थाना में इस व्यक्ति के खिलाफ धार्मिक स्वतन्त्रता अधिनियम की धारा 3 व 4 तथा आईपीसी की धाराओँ 506, 298 के अन्तर्गत केस दर्ज किया गया है.

हिमाचल में धार्मिक स्वतन्त्रता अधिनियम हिमाचल प्रदेश विधानसभा द्वारा 2019 में लागू किया गया और इसके प्रावधानों के अन्तर्गत किसी लालच, दबाव, प्रताड़ना द्वारा धर्म-परिवर्तन करना या करवाना या प्रयत्न करना गैर जमानती जुर्म है.

error: Content is protected !!