Farmer Law: जयराम ठाकुर का टिप्पणी से इनकार, कहा, मोदी के हर फैसले का स्वागत

गुरु पर्व के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानून (Agriculture Laws) वापस लेने का सुबह-सवेरे ऐलान किया. इस एलान के साथ ही देश भर के राजनीतिक गलियारों में जहां उथल-पुथल का माहौल पैदा हो गया है.

शुक्रवार सुबह एक दिवसीय दौरे पर ऊना जिला पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने केवल मात्र एक पंक्ति में कृषि कानूनों के संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब दिया.

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कृषि कानूनों को लेकर केवल इतना कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर फैसले का वह स्वागत करते हैं. दूसरी तरफ, हिमाचल प्रदेश के कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने उम्मीद जताई कि तीनों कृषि कानून वापस होने के बावजूद जल्द नए सिरे से किसानों के उत्थान के लिए नए कानूनों को लाया जाएगा.

दरअसल, पिछले करीब डेढ़ साल से देश भर में सुर्खियों का केंद्र बने केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून शुक्रवार सुबह अचानक वापस लिए जाने से जहां हर कोई हतप्रभ है. ऊना जिला के मेहतपुर बसदेहड़ा में एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इन तीनों कृषि कानूनों के वापस लिए जाने पर केवल मात्र प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत किया. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर फैसले का स्वागत करते हैं. इसके अतिरिक्त उन्होंने कृषि कानूनों को लेकर कोई भी और टिप्पणी करने से साफ इंकार किया.

क्या बोले कृषि मंत्री

वहीं दूसरी तरफ हिमाचल प्रदेश के कृषि मंत्री वीरेंद्र कमर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कृषि कानून वापस लेने पर आभार जताया. उन्होंने कहा कि हालांकि यह तीनों कृषि कानून किसानों की ही भलाई के लिए लाए गए थे. उन्होंने यह उम्मीद जताई कि जल्द ही केंद्र सरकार ने सिरे से कृषि कानून किसानों के हित में लेकर आएगी.

कांग्रेस ने दी प्रतिक्रिया

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मोदी सरकार के फैसले पर इतना कहा कि झुकती है, दुनिया झुकाने वाला चाहिए. वहीं, कांग्रेस के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने फैसले से पीछे हटने की वजह हिमाचल उपचुनाव में भाजपा की हार को बताया.

Please Share this news:
error: Content is protected !!