Treading News

काबलियत नही, हालात के कारण मुख्यमंत्री बने थे जय राम ठाकुर: मुकेश अग्निहोत्री

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पर कड़ा प्रहार किया है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री हमें पागलपन के दौरे न बताएं। हेलिकॉप्टर में घूमने वाले और 200 से लेकर 500 करोड़ के शिलान्यास एक ही दीवार पर करने वाले मुख्यमंत्री बौखला गए हैं। असल में तो पागलपन के दौरे अब उन्हें पड़ रहे हैं। मुकेश अग्रिहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर याद रखें कि वह हालात के कारण मुख्यमंत्री बने हैं। उनकी अपनी कोई काबिलियत नहीं है, जबकि प्रदेश में मुख्यमंत्री का चेहरा तो भाजपा के प्रेम कुमार धूमल थे। हालात ने कुर्सी जयराम को दी है और जब जयराम ठाकुर की परीक्षा की घड़ी उपचुनाव में आई थी, तो उसमें चारों चुनाव हार कर वह फेल साबित हुए हैं और अब विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा के केंद्रीय नेताओं को प्रधानमंत्री को बुलाकर चुनाव लडऩे का प्रयास कर रहे हैं, क्योंकि उनकी अपनी उपलब्धि कोई नहीं है। मुकेश ने कहा कि हम तो विधायक दल के नेता हैं।

हमारे विधायक कम हैं, इसलिए विपक्ष के नेता हैं। मुख्यमंत्री जयराम तो अपने विधायक दल के नेता भी नहीं थे। न ही चेहरा थे, यह तो दुर्घटना के कारण नेता बने और मुख्यमंत्री की कुर्सी मिल गई और हेलिकॉप्टर में घूम कर बौखला गए हैं। वर्तमान में हिमाचल प्रदेश में सबसे निराश व्यक्ति कोई है, तो वह जयराम ठाकुर हैं। हिमाचल प्रदेश के सबसे असफल मुख्यमंत्री के रूप में जयराम ठाकुर का कार्यकाल जाना जाएगा।

पांच साल के फैसलों की समीक्षा होगी

मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर पार्टी भाजपा सरकार के निर्णयों की समीक्षा करेगी। अंतिम छह महीने ही नहीं, पांच वर्षों के निर्णयों की समीक्षा होगी और जो जनता के विरुद्ध निर्णय होगा, उसको वापस किया जाएगा ।

रिवाज नहीं, सरकार ही बदल जाएगी

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जनता के हित की लड़ाई कांग्रेस एकजुटता से लड़ रही है और लड़ेगी और बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। जयराम ठाकुर अपनी विदाई को तय मानें। रिवाज नहींए बल्कि जनता हालात बदल कर सरकार बदलेगी।

युवाओं पर दर्ज मुकदमे वापस होंगे

मुकेश ने कहा कि नौजवानों के ऊपर जो मुकदमे बनाए गए हैं, उन्हें बिना शर्त वापस लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि चार साल के लिए नौकरी युवाओं के साथ धोखा है, युवा सड़कों पर है और सरकार तानाशाह बन कर निर्णय थोपना चाहती है।

Comments: