क्या सुंदरनगर पुलिस युवकों को फंसा रही है, आखिर क्यों तीन घण्टे बंद रखा गया थाने का गेट

सुंदरनगर: सुंदरनगर थाना पुलिस द्वारा पुर्व फौजी को सामूहिक तौर पर पीटने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि पूर्व सूबेदार मेजर की अकैडमी के छात्रों को महिलाओं द्वारा पीटने, कपड़े फाड़ने व गाली गलौच करने और पुलिस द्वारा शिकायत पर दो घण्टे तक कार्यवाही ना करने पर पुलिस पुनः विवादों में आ गई।

वही दूसरे पक्ष यानि महिलाओं द्वारा थाने पहुच गई लेकिन जब एकेडमी के सभी छात्र व छात्राएं जब शिकायत दर्ज करवाने पहुचे तो पुलिस ने गेट बंद कर दिए जिससे एकेडमी के छात्र व छात्राओं द्वारा भड़क गए व खूब हंगामा व नारेबाजी की गई।

सोशल मीडिया से हुए वायरल वीडियो से मामला उजागर होने पर
एसपी मण्डी मामले की नजाकत समझते हुए सुन्दरनगर पहुची और दोनों पक्षों को बिठाकर बात की। इस बारे में जब फौजी प्रेमसुख से बात की गई तो उन्होंने बताया कि वह लंबे समय से बच्चो को प्रशिक्षण देता है। आज तक कभी ऐसा नही हुआ लेकिन आज जिस तरह से साजिश रची जा रही है यह बहुत ही शर्मनाक है।

पिछले 2 सालों में अब तक कई बच्चे विभिन्न फौजी परीक्षाओं में फिजिकल टेस्ट में सफल हो चुके हैं। उनके द्वारा प्रशिक्षणजवाहर पार्क में ही होता है। लेकिन बीम प्रैक्टिस घर पर होती है ।क्योंकि दूसरी जगह पर इन डम्बल चोरी होने का अंदेशा रहता है। उधर डीएसपी सुंदर नगर दिनेश कुमार ने कहा कि दोनों पक्षो की शिकायत मिल गई है और बाकायदा एस पी मंडी ने दोनों पक्षो के साथ बैठक की है।

error: Content is protected !!