ऊना में 22 लोगों को पागल कुत्ते ने काटा, लोगों ने लगाई पकड़ने की गुहार

ऊना के नजदीकी गांवों सहित ऊना शहर में इन दिनों पागल कुत्तों के काटने से लोग दहशत में हैं। ऊना शहर के पशु पालन विभाग के चालक, कोटला कलां गांव सहित आसपास के गांवों के करीब 22 लोगों को पागल कुत्ता काट चुका है जिन्होंने क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में उपचार लिया है। पागल कुत्ते को पकडऩे के लिए लोगों ने पशु पालन विभाग और वन विभाग से गुहार लगाई है।

बीते शनिवार को पशु पालन विभाग के चालक राम प्रकाश अपने कार्यालय परिसर के पास घूम रहे थे। इतने में एक पागल कुत्ता वहां धमक पड़ा। कुत्ते ने उस पर धावा बोल दिया और दांत गड़ा दिए। इसी प्रकार ऊना के नजदीकी कोटला कलां और अरनियाला में भी पागल कुत्ते ने करीब 21 लोगों को काटा है। लोगों में करनैल दक्ष, राजेन्द्र कुमार, मनोज कौशल ने जिला प्रशासन से गुहार लगाई है कि पागल कुत्ते को पकडऩे के लिए संबंधित विभाग और कर्मियों को निर्देश दिए जाएं।

अगर कहीं किसी क्षेत्र में कोई पागल कुत्ता लोगों को काटता है तो इसे पकडऩे के लिए संबंधित पंचायत, नगर परिषद या नगर पंचायत ही जिम्मेदार है। पशुपालन विभाग के पास संबंधित पंचायत या निकाय कुत्ते को पकड़ कर लाती है जिसके बाद उसकी नसबंदी आपरेशन करने में विभाग सहयोग करता है।

-जय दक्ष सेन, उपनिदेशक पशु पालन विभाग ऊना।

वन विभाग ऐसे मामलों में कुत्ते को पकडऩे के लिए जिम्मेदार नहीं है। हां, ट्रेंकुलाइजर गन के लिए मदद प्रदान कर सकता है। इसके लिए पशुपालन विभाग ही कुछ कर सकता है।

-मृत्युंजय माधव, जिला वनमंडलाधिकारी ऊना।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!