Treading News

राजकीय महाविद्यालय ज्वालाजी में प्राध्यापक संघ ने माँगों को लेकर किया धरना प्रदर्शन

ज्वालामुखी। राजकीय महाविद्यालय ज्वालाजी में हिमाचल राजकीय महाविद्यालय प्राध्यापक संघ के पदाधिकारियों ने माँगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि सरकार अगर जल्द उनकी माँगो को पूरा नहीं करती है तो वे उग्र आंदोलन करने को मजबूर हो जाएँगे। इस दौरान संघ ने गेट मीटिंग, इकाई अध्यक्ष डा. जसपाल राणा की अध्यक्षता में की। उन्होंने कहा कि केंद्रित कार्यकारिणी के दिशा निर्देशानुसार, एक दिन की भूख हड़ताल के बाद अब गेट मीटिंग व धरना प्रदर्शन प्रदेश के सभी कॉलेजों में किया जा रहा है।

उतर पुस्तिका मूल्यांकन, बहिष्कार के 15 दिन हो चुके है, पर सरकार की तरफ़ से अभी तक कोई हल नहीं हो पाया है। स्थानीय इकाई सचिव प्रो. यश पाल ने कहा कि उनकी मुख्य माँगों में सातवें वेतन आयोग की सिफ़ारिशों को लागू करना, एमफिल और पीएचडी की इंक्रिमेंट को बहाल करना, अनुबंध पिरीयड को रेगुलर सेवा लाभ में शामिल करना, प्रिन्सिपल पद की डीपीसी को बनाना और महाविद्यालय में प्रोफ़ेसर पद का सृजन करना आदि शामिल है।

उन्होंने सरकार को चेताया कि यदि जल्द ही इस दिशा में कोई सकारात्मक निर्णय नहीं आया तो वे आने वाले दिनों में क्रमिक भूख हड़ताल व सड़कों पर भी उतर सकते है क्योंकि हिमाचल को छोड़कर बाक़ी सभी राज्यों में ये लाभ दिये जा चुके हैं। इस दौरान डा. सीमा शर्मा, डॉ. पूनम शर्मा, प्रो. शैलजा सूद, डा. शिवानी शर्मा, डा. आरती शर्मा , प्रो. कुलदीप कुमार, प्रो. आरती गुप्ता, प्रो. मुक्ता मणि सहित संघ के सभी सदस्य उपस्थित रहकर हड़ताल में हिस्सा लिया।