आज होगी मंत्रिमंडल की महत्वपूर्ण बैठक, एजेंडा नही पहुंचने पर हुई है देरी

Himachal Cabinet Meeting, हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल की सोमवार सुबह साढ़े दस बजे होने जा रही बैठक देरी से शुरू हो सकती है। इसका कारण किसी भी विभाग से एजेंडा नहीं पहुंचना बताया जा रहा है।

हैरत की बात है कि पांच दिन पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस बैठक की जानकारी दी थी, बावजूद इसके किसी भी विभाग का एजेंडा कैबिनेट ब्रांच तक नहीं पहुंचा है। यानी 58 सरकारी विभागों में से एक का भी एजेंडा नहीं आया है। इस स्थिति में सामान्य प्रशासन विभाग ने पिछले चार विषय सूचीबद्ध किए हैं। वहीं शनिवार को भी सरकार के कई आला अधिकारी सचिवालय से नदारद रहे। हालत यह थे कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की मौजूदगी में अचानक बुलाई बैठक में शामिल होने के लिए अधिकारी उपलब्ध नहीं थे।

आज हड़बड़ी में आएंगे प्रस्ताव

माना जा रहा है कि सोमवार सुबह सभी विभागों से हड़बडी में मंत्रिमंडल बैठक के लिए प्रस्ताव आएंगे। ऐसे में अधिकतर प्रस्ताव औपचारिकता मात्र ही होंगे। सूत्रों के अनुसार 50 से अधिक सप्लीमेंटी एजेंडा बैठक शुरू होने से पहले मंत्रियों के टेबल पर पहुंचेंगे।

चर्चा के लिए रखे यह एजेंडे

मंत्रिमंडल की पिछली बैठकों में लिए 10 निर्णय अभी तक लागू नहीं हो पाए हैं। यह मामले विधि सहित वित्त विभाग के पास लंबित हैं। इस तरह के विषय जो क्रियान्वित नहीं हो पाए हैं, वह फिर से बैठक में चर्चा के लिए रखे जाएंगे। स्वर्ण जयंती कार्यक्रमों की कड़ी में विजन डाक्यूमेंट प्रजेंटेशन प्रस्तावित की गई है। कृषि विभाग का एक एजेंडा दर्ज किया गया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति का आकलन करने के लिए समीक्षा होगी।

सचिवालय पहुंचे 11 आला अफसर

शनिवार को मुख्य सचिव राम सुभाग सिंह के अलावा 11 अधिकारी ही सचिवालय में मौजूद रहे। हालांकि सरकार में पांच अतिरिक्त मुख्य सचिव, तीन प्रधान सचिव, नौ सचिव, और 11 विशेष सचिव हैं। शनिवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान, प्रबोध सक्सेना, जेसी शर्मा, प्रधान सचिव ओंकार चंद शर्मा, रजनीश और सुभाशीष पांडा, सचिव डा. अजय शर्मा, विकास लाबरू, सी पालरासू, राजीव शर्मा व डा. एसएस गुलेरिया सचिवालय में मौजूद रहे।

error: Content is protected !!