उपचुनाव: कांगड़ा से वायरल हो रही कार्यकर्ताओं की अनदेखी की पोस्ट्स, लोग दे रहे तीखी प्रतिक्रिया

भाजपा फतेहपुर उपचुनाव हारी पर कार्यकर्ताओं की अनदेखी की पोस्ट हरेक विधानसभा क्षेत्र से आ रही हैं। इसका मतलब सीधा और साफ है कि भाजपा के संगठन में भीतर खाते सब कुछ सही नहीं चल रहा है।

इंटरनेट मीडिया पर कार्यकर्ता व भाजपा से जुड़े रहे लोग यह पोस्‍ट डाल रहे हैं कि अनदेखी महंगी पड़ेगी। इसी तरह से अन्य संदेशों को इस तरह से जोड़ा जा रहा है, जिनका संदेश यही है कि कार्यकर्ताओं की अनदेखी हुई है।

नगर परिषद, नगर निगम व पंचायती राज के चुनावों में कुछ लोग पार्टी से खिन्न चल रहे थे। अब जब फतेहपुर में भाजपा के प्रत्याशी बलदेव ठाकुर चुनाव हारे तो उन्हें भी अपनी आवाज बाहर निकालने का मौका मिल गया है। कई लोग ऐसे भी हैं, जिन्हें पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाने तक का अल्टीमेटम दे दिया था तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने कई साल पार्टी को सींचा पर चुनाव के वक्त मौका नहीं मिला। ऐसे कार्यकर्ता अब इंटरनेट मीडिया के माध्यम से टिप्पणियां कर रहे हैं।

इस बीच कांग्रेस पार्टी के नेता व कार्यकर्ता जरूर उभर कर सामने आए हैं। कांग्रेस ने उपचुनाव में चारों सीटों पर जीत हासिल की है, इससे कार्यकर्ताओं को मनोबल बढ़ा है। वहीं, हार के भाजपा के नाराज लोगों को बोलने का अवसर मिल गया है।

संगठन की सभी इकाइयों को चुस्त दुरुस्त करने का वक्त

फतेहपुर में भी भाजपा एक बूथ 20 यूथ, पन्ना प्रमुख व संगठन को गांव से घर तक ले जाते हुए हर तरह की इकाइयों के गठन के बाद तीन मंत्रियों की मेहनत भी विफल हो गई। ऐसे में संगठन को भी आत्ममंथन की जरूरत है और पूरे जिला कांगड़ा कि 15 विधानसभा क्षेत्रों में गठित इकाइयों को भी चुस्त दुरुस्त करने की आवश्यकता है। इंटरनेट मीडिया पर आ रही पोस्टों से पता चल रहा है कि भाजपा में भी कार्यकर्ता रुष्ट है और इन्हें मनाना ही 2022 का मंत्र भी है।

error: Content is protected !!