शराब पीकर मंत्रिमंडल की बैठक में पहुंचा आईएएस, दूर तक आ रही थी दुर्गंध

शिमला: हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक में सोमवार को एक आई.ए.एस. अधिकारी शराब पीकर आ धमका। सूत्रों की मानें तो कैबिनेट ने अधिकारी के संबंधित विभाग से जुड़ी जानकारी के लिए अचानक उन्हें कॉल किया।

अधिकारी जैसे ही कैबिनेट हाल के बाहर पहुंचा तो उन्हें देखकर दूसरे आई.ए.एस. व अन्य विभागाध्यक्ष हैरान हो गए। इसके बाद अधिकारी कैबिनेट हॉल में गए। कैबिनेट बैठक में जब अधिकारी से उनके विभाग से संबंधित कुछ सवाल किए गए तो संतोषजनक जवाब नहीं मिल पाए और अधिकारी से दूर तक शराब की दुर्गंध आ रही थी।

अधिकारी की हालत को देखते हुए मुख्य सचिव ने उन्हें बैठक से जाने को कह दिया। इसके बाद अधिकारी ने दफ्तर जाकर सरकारी काम निपटाया है। इससे पहले भी यही अधिकारी एक बार शराब पीकर एक होटल में कर्मियों को धमकाने को लेकर सुर्खियां बटोर चुके हैं। अब कैबिनेट जैसी महत्वपूर्ण बैठक में अधिकारी का शराब पीकर पहुंचना कई तरह के सवालिया निशान खड़े कर रहा है। इस बार सरकार अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है। हालांकि अभी तक अधिकारी का मैडीकल नहीं करवाया गया है। उपचुनाव से हारकर लौटी सरकार और मुख्यमंत्री अफसरशाही को सरकारी योजनाओं को धरातल पर उतारने के निर्देश दे चुके हंै। ऐसे वक्त में सीनियर आई.ए.एस. का रवैया सरकार के लिए भी चिंताजनक है।

लोकायुक्त एक्ट को संशोधित करेगी सरकार
हिमाचल प्रदेश सरकार लोकायुक्तकानून में संशोधन करने जा रही है। इसी मकसद से सोमवार को कैबिनेट में अध्यादेश लाया गया था, लेकिन शीतकालीन सत्र की तिथि घोषित हो जाने की वजह से विधेयक की जगह सत्र में बिल लाने का निर्णय लिया गया। अभी तक राज्य में हाईकोर्ट के रिटायर मुख्य न्यायाधीश को ही लोकायुक्त लगाने का प्रावधान है, लेकिन सरकार हाईकोर्ट से रिटायर किसी भी न्यायाधीश को लोकायुक्त लगाने का प्रावधान कर सकती है। दावा किया जा रहा है कि संशोधन के बाद राज्य में लोकायुक्त की तैनाती कर दी जाएगी।

error: Content is protected !!