भ्रष्टाचार का अड्डा बन एचपीयू, पंचायत सचिव भर्ती पर लगे रोक- कुलदीप सिंह राठौर

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है। शुक्रवार को विश्वविद्यालय के माध्यम से होने वाली पंचायत सचिवों के 239 पद भरने की परीक्षा पर तुरंत प्रभाव से रोक लगनी चाहिए।

गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन शिमला में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए राठौर ने कहा कि इस संदर्भ में मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र भेजा गया है। भर्ती प्रक्रिया उपचुनावों के बाद कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर के माध्यम से होनी चाहिए।

राठौर ने कहा कि पंचायत सचिव के 239 पदों के लिए 26299 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। चुनाव आचार संहिता के चलते परीक्षा का अभी आयोजन नहीं होना चाहिए। हिमाचल विश्वविद्यालय के माध्यम से परीक्षा आयोजित करवाने का कांग्रेस विरोध करती है। विवि में कुलपति मनमर्जी से नौकरियां दे रहे हैं। पंचायत सचिव भर्ती के लिए 1200 रुपये शुल्क अभ्यर्थियों से वसूला गया है। करीब तीन करोड़ से अधिक राशि जमा हुई है। हमीरपुर कर्मचारी चयन आयोग से परीक्षा होती तो वहां लड़कियों को फीस की छूट मिलनी थी।

उन्होंने कहा कि पंचायत सचिव के पदों के लिए नियुक्तियां किसे दी जानी हैं, यह पहले से ही तय है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग पक्षपात करता है, निगम चुनावों में भी ऐसा किया गया। भर्ती परीक्षा रोकने के लिए दो दिन पूर्व आयोग को पत्र लिखा था लेकिन अभी तक कोई सूचना नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि हिमाचल विश्वविद्यालय में कुलपति के बेटे समेत स्टाफ के कई लोगों के बच्चों को दाखिले देना पक्षपात पूर्ण है। परिवार को लाभ देने के लिए नियमों में बदलाव किया गया है। यह फैसला वापस होना चाहिए।

राठौर ने कहा कि भाजपा ने उपचुनावों में मुद्दों को भटकाने का प्रयास किया है। मुख्यमंत्री को गैस, पेट्रोल, डीजल, सरसों तेल और दालों के चार साल पुराने रेट देखने चाहिए। कांग्रेस के समय में पांच रुपये भी दाम बढ़ते थे तो भाजपा सड़कों पर उतरती थी। स्मृति ईरानी अब तो इस बारे में कुछ बोल तक नहीं रहीं। मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से सैर कर रहे हैं। प्रदेश की सड़कों की हालत खराब बनी हुई है। जल शक्ति विभाग ने प्रदेश में पानी के पाइपों को बांटने का अभियान चलाया हुआ है। मंत्री महेंद्र सिंह की इस कार्यप्रणाली की जांच होनी चाहिए।

पंजाब और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री आएंगे मंडी
मंडी संसदीय सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के प्रचार के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आएंगे। राठौर ने बताया कि राष्ट्रीय नेताओं के हिमाचल आने के प्रोग्राम बनाए जा रहे हैं। हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने वीरवार से मंडी संसदीय सीट पर चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है।

मुख्यमंत्री के चेहरे पर दिख रही चिंता की लकीरें
राठौर ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के चेहरे पर चिंता की लकीरें साफ दिख रही हैं। महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों से भाग रही भाजपा राष्ट्रवाद के नाम पर वोट मांग रही है। क्षेत्रवाद, जातिवाद और सांप्रदायिकता के नाम पर लोगों को बांटने की भाजपा राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह आधुनिक हिमाचल के निर्माता हैं। उनके नाम पर वोट मांगने का कांग्रेस को पूरा अधिकार है।

अनिल शर्मा के लिए खुले हैं कांग्रेस के दरवाजे
राठौर ने कहा कि पूर्व मंत्री और विधायक अनिल शर्मा तकनीकी तौर पर भाजपा के विधायक हैं। हम उनसे प्रचार की उम्मीद नहीं कर सकते। आश्रय शर्मा मंडी में प्रचार कर रहे हैं। सुखराम का स्वास्थ्य अभी ठीक नहीं है। वह दिल्ली से उपचार लेकर लौटे हैं। अनिल शर्मा की इच्छा है तो उनके लिए पार्टी के दरवाजे खुले हैं।

HOTEL FOR LEASEHotel New Nakshatra

Hotel News Nakshatra for Lease. Awesome Property with 10 Rooms, Restaurant and Parking etc at Kullu.

error: Content is protected !!