थाची महाविद्यालय में मनाया गया हिंदी दिवस, मुख्यातिथि कहा, हर स्थान पर करें हिंदी का प्रयोग

तहसील बालीचौकी के अंतर्गत राजकीय महाविधालय थाची में हिंदी दिसव मनाया गया। इस दौरान वरिष्ठ आचार्य सहायक दीप कुमार ने बतौर मुख्यातिथि उपस्थित रहे। कालेज के आचार्य ने मुख्यातिथि को टोपी व शाल से सम्मानित किया। मुख्यातिथि ने प्रदीप प्रज्वलित कर हिंदी दिवस का शुभआरंभ किया। दीप कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि हिंदी भाषा हमारी राष्ट्रीय भाषा है ऐसे में हिंदी भाषा का प्रयोग अपने कालेज, समाज अन्य स्थानों पर करना चाहिए। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करते हुए कार्यक्रम की शुरूआत की। कालेज में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं में भाग ले रहे छात्रों ने अपने अपने संबोधन में हिंदी भाषा पर विस्तार से प्रकाश डाला।

सभी छात्रों ने हिंदी भाषा को मजबूत करने के लिए अपने बल दिया । इस अवसर पर कविता पाठ, भाषणएवं प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। कविता में किरण देवी प्रथम, गीता देवी द्वितीय और योगेश्वरी देवी तृतीय स्थान पर रही। भाषण प्रतियोगिता में किरण व गीता दोनों प्रथम स्थान हासिल किया और प्रश्नोतरी प्रतियोगिता में संगीता, देबेंद्रा, गोपाल व जयंवती की टीम प्रथम, किरण संगीता गीता एवं खिमराज की द्वितीय तो वहीं देश राज, दुनी चंद, छाजु राम एवं बवली देवी की टीम ने तृतीय स्थान हासिल किया। इस कार्यक्रम में कालेज के आचार्य डा पवन कुमार,संजीव कुमार, रितुराज एवं प्रदीप कुमार ने अपना योगदान दिया ।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!