HRTC Strike; कल पूरा दिन बंद रहेगी हिमाचल परिवहन की बसें, आने जाने का कर ले इंतजाम

शिमला। HRTC Strike, 18 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश में हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की बसें नहीं चलेंगी। इसकी वजह यह है कि उस दिन एचआरटीसी के कर्मचारी और पेंशनर मांगों के समर्थन में आंदोलन पर रहेंगे। यह एक दिन का काम छोड़ो आंदोलन चलाएंगे।

प्रदेश में सेवारत कर्मचारियों और पेंशनरों की संख्या 12 हजार के आसपास हैं। अगर मांगें नहीं मानी गई तो ये अपना आंदोलन तेज करेंगे। इस संबंध में हिमाचल परिवहन कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति (जेसीसी) के अध्यक्ष प्यार ङ्क्षसह ठाकुर ने आरोप लगाया है कि एचआरटीसी प्रबंधन कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए गंभीर नहीं है। उन्होंने कहा कि वित्तीय लाभों की अदायगी करने के लिए परिवहन कर्मचारी पिछले दो माह से आंदोलन कर रहे हैं।

582 करोड़ की हैं देनदारियां

निगम कर्मचारियों एवं पेंशनरों की लगभग 582 करोड़ रुपये के अनेक वित्तीय लाभ की देनदारियां वर्षों से हैं। ये लगातार बढ़ रही हैं। इस तरह के वित्तीय लाभ अन्य विभागों के कर्मचारियों को बहुत पहले जारी हो चुके हैं, लेकिन निगम में यह एक प्रथा बन चुकी है कि बिना आंदोलन किए कोई भी वित्तीय लाभ नहीं दिए जाते।

नहीं हुआ आंदोलन

प्यार ङ्क्षसह ने कहा कि पिछले पौने चार वर्ष से कर्मचारियों ने कोई भी आंदोलन नहीं किया और बिना मांगे प्रबंधन व सरकार कर्मचारियों के कोई भी वित्तीय लाभ नहीं देती। यही वजह रही है कि अब तक कर्मचारियों को लगभग 582 करोड़ रुपये की वित्तीय देनदारियों लंबित हो चुकी हैं।

ये हैं मांगें

एचआरटीसी के कर्मचारी जनवरी 2016 से 13 फीसद अंतरिम राहत, जनवरी 2019 से चार फीसद डीए, पांच फीसद जुलाई 2019 से और छह फीसद जुलाई 2021 से डीए, कुल डीए 15 फीसद, 35 महीनों का रात्रि ओवर टाइम, पेंशन, ग्रेच्युटी, कम्यूटेशन, लीव एनकैशमेंट, जीपीएफ, मेडिकल रिइंबर्समेंट सहित कई प्रकार के एरियर आदि जारी करने की मांग कर रहे हैं।

Please Share this news:
error: Content is protected !!