हिमाचल ने नशा रोकने के लिए तैयार किया ब्लू प्रिंट, अमित शाह के सम्मेलन में रखी जाएगी बात

0
83

शिमला। Himachal Drugs Smuggling, नशे की तस्करी रोकने के लिए हिमाचल और कड़े कदम उठाएगा। इसके लिए नया ब्लू प्रिंट तैयार किया है। इस पर सख्ती से क्रियान्वयन होगा।

इसी कड़ी में एंटी नारकोटिक्स ड्रग टास्क फोर्स गठित करने का निर्णय हुआ। अब जल्द ही इसकी अधिसूचना जारी होगी। राज्य ने नशे की समस्या से निपटने के लिए जिस खाके को नए सिरे से तैयार किया है, उसे चंडीगढ़ में 31 जुलाई को होने वाले राष्ट्रीय सम्मेलन में रखा जाएगा। इसकी अध्यक्षता गृह मंत्री अमित शाह करेंगे। सम्मेलन में नशे की तस्करी रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने पर चर्चा होगी। इसमें सुरक्षा से जुड़े मसलों पर भी बात होगी।

हिमाचल की सीमाएं चीन से सटी हुई है। इस कारण इनकी सुरक्षा का मामला अत्यंत संवेदनशील रहता है। राज्य में सीमा पर अग्रिम मोर्चा सेना और भारत तिब्बत सीमा पुलिस संभाल रही है। सुरक्षा व्यवस्था में और क्या सुधार किए जाएं, इस पर भी चर्चा हो सकती है। सम्मेलन में हिमाचल नशे पर रोक लगाने के लिए उठाए गए कदमों की भी जानकारी देगा। इनमें पुलिस की ओर से डीजीपी संजय कुंडू, सीआइडी के एडीजीपी एसपी सिंह हिस्सा लेंगे। राज्य पुलिस सम्मेलन की तैयारियों में जुटी हुई है।

हिमाचल ने की थी पहल

हिमाचल प्रदेश ने उत्तर भारत के राज्यों की बैठक करने की पहल की थी। इसमें नशे की बढ़ती समस्या के निदान के लिए संयुक्त कार्रवाई करने पर जोर दिया गया। इसके बाद डीजीपी स्तर की अंतरराज्यीय बैठकें हुईं। इसमें राज्यों ने तस्करों के बारे में खुफिया सूचनाएं साझा की और इसके आधार पर कार्रवाई भी की गई। इसके बाद पंचकुला में सचिवालय स्थापित किया गया। यह राज्यों के बीच समन्वय का कार्य करता है। ऐसा ही सचिवालय शिमला में सीआइडी में भी स्थापित होगा। यह विभागों के साथ नशे की रोकथाम से जुड़े मामलों में समन्वय का काम करेगा।

समाचार पर आपकी राय: