महामारी के दूसरे दौर में आर्थिक सहायता दे सरकार -आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश प्रवक्ता राजीव भूषण अम्बिया ने आज प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए सरकार से मांग की है कि सरकार मौजूदा समय में जबकि कोरोना महामारी की दूसरी व भयानक लहर चल रही है तो सूबे के लोगों को आर्थिक सहायता का प्राभधान किया जाए, ताकि सूबे में ही रही लोगों को दिक्कतों से सामना करने कोई मुश्किल न हो। पूरा देश आज इस महामारी से झुज रहा है और इसमें हिमाचल भी अछूता नही रहा है और सूबे के मुखिया सिवाए इसके की जनता की ओर ध्यान दें। वह अपने नए उड़नखटोले की यात्रा में मशगूल हैं और समय व पैसा दोनों बर्बाद कर रहे हैं। साथ ही सूबे की जनता को यह कभी भी नही भूलना चाहिए कि 5 लाख 10 हज़ार रुपये प्रति घण्टे के हेलीकॉप्टर पर खर्च करने की नही, बल्कि जनता को इस समय हॉस्पिटल में बहेतर सुविधा के साथ ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और दवाइयों आदि की सख्त जरूरत है, नाकि इस तरह के हेलीकॉप्टर जो कि महामारी के दौरान आमजन पर आफत बन उड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि केंद्र के साथ साथ प्रदेश भाजपा ने अपनी आंखें महामारी के दौरान हो रही इस तरह की पैसों की खपत पर पूरी तरह बन्द कर रखी हैं। आज यदि प्रदेश दूसरी बार लॉकडाउन की स्तिथि में जाता है तो हिमाचल के हर बेरोजगार वर्ग के साथ-साथ निजी वाहन चालकों व मजदूरों को आर्थिक सहायता देनी अति-अनिवार्य है। क्योंकि सूबे के लोग अभी पहली बार मे लगे लॉकडाउन से ऊपर नही उठ पाएं है। इस महामारी के दौरान हिमाचल प्रदेश में बेरोजगारी की संख्या 15 लाख को पार कर चुकी है। जिसका मतलब सीधा है कि 75 लाख की इस आबादी बाले प्रदेश में लगभग हर घर मे एक बेरोजगार है और इस स्तिथि में सूबे के मुखिया को शीघ्र अति शीघ्र राहत पैकेज की घोषणा करनी चाहिए। ताकि बेरोजगारी व महामारी के कारण पैदा हुए हालातों से कुछ हद तक निजात मिल सके ।

मौजूदा सरकार को अपने अड़ियल स्वभाव से हट कर आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार से सीख लेने की जरूरत है जोकि हर निजी वाहन चालक मजदूरों व बेरोजगारों के साथ हर समय खड़ी है व साथ राहत पैकेज में 5000 रुपये प्रति व्यक्ति व राशन देने की घोषणा करने तुरंत साथ ही अमल में लाया गया है। दूसरी तरफ अब तक हिमाचल प्रान्त की सरकार खुद एक निर्णय भी नहीं कर पा रही और केंद्र की ओर टकटकी लगाए बैठी है। साथ ही सूबे की जनता को भी इस बात से अब सबक लेना चाहिए लेना चाहिए व यह भी समझना चाहिए कि इस बुरे वक़्त के दौरान हेलीकॉप्टर जरूरी था या स्वस्थ्य सुविधाओं का वेहतर होना। अतः आने वाले समय मे इसका ध्यान रखे और डबल इंजन सरकार को बाहर का रास्ता दिखाया जाए।

इस वक़्त समूचे प्रदेश की जनता सदमे में है कि उनका आने बाला समय कैसा होगा, कैसा नही। जहां एक तरफ कोरोना के कारण आए दिन मौत का तांडव बढ़ता जा रहा है और सूबे के मुखिया की चुप्पी साधे केंद्र की ओर ताके जा रहै हैं। आम आदमी पार्टी प्रवक्ता राजीव भूषण अम्बिया ने सीधे सवाल में पूछा है कि अब तक सरकार ने सूबे की जनता के लिए इस महामारी से निजात पाने के लिए क्या कदम उठाए हैं? आज महामारी के साथ साथ व्यापारिक वाहनों जैसे बसों व टेक्सी चालकों की हड़ताल जो की टैक्स को लेकर की गई है वो दिखा रही है हिमाचल सरकार ने किसी तरह से महामारी के दौर में लोगों को लूटने से कसर नही छोड़ी है ज्ञात रहे कि अब तक सरकार प्राइवेट स्कूलों की फीस को लेकर भी कोई निर्णय नही कर पाई है।

आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश सूबे में अपनी सामर्थ्य के अनुसार हर जिले में अपने वॉलेंटर के साथ जनता के हर सम्भव सहायता के लिए प्रसाशनिक आदेशों के अनुसार जुटी है। साथ आम आदमी पार्टी ने जनता से भी अपील की है कि इस महामारी काल पर घर पर रहे और सुरक्षित रहें । बिना किसी कारण बाहर जाने से व भीड़ वाले इलाके से दूरी बना कर रखे ।

error: Content is protected !!