आर्मी हॉस्पिटलों को बनाया जाएगा कोविड हॉस्पिटल, शिमला में 1179 बेड होंगे उपलब्ध- जयराम ठाकुर

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकार शिमला में सेना के अस्पताल का इस्तेमाल कोविड-19 रोगियों के लिए करना चाहती है। उन्होंने कहा कि सरकार राज्य की राजधानी में वर्तमान में 479 बिस्तरों की क्षमता को बढ़ाकर 1179 करना चाहती है। एक सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक, उन्होंने कहा कि शिमला में कोविड-19 रोगियों के लिए सेना के अस्पताल का इस्तेमाल करने की अनुमति के लिए वह मामले को सैन्य प्रशिक्षण कमान (एआरटीआरएसी) के लेफ्टनेंट जनरल के समक्ष उठाएंगे।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक वर्तमान में 479 कोविड-19 बिस्तरों में से 280 बिस्तर भरे हुए हैं।

जिले में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करते हुए ठाकुर ने कहा कि आईजीएमसी के नए ओपीडी में चरणबद्ध तरीके से 300 अतिरिक्त बिस्तर बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि छोटा शिमला के आयुर्वेदिक अस्पताल में 50 बिस्तर, सिविल अस्पताल जुंगा में 50 बिस्तर और तुतीकांडी पार्किंग में 100 बिस्तर जोड़े जाएंगे।

‘शिमला के आसपास 200 अतिरिक्त बिस्तर बढ़ाने का प्रयास’

उन्होंने कहा कि इसके अलावा आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए शिमला के आसपास 200 अतिरिक्त बिस्तर बढ़ाने का प्रयास भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोहरू, खनारी और ठियोग के सिविल अस्पतालों में भी बिस्तरों की क्षमता को बढ़ाने का प्रयास होगा। राज्य के स्वास्थ्य आंकड़ों के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा के बाद शिमला कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित दूसरा जिला है। शिमला में बुधवार को कोरोना वायरस के 168 नए मामले आए जिससे कुल संक्रमितों की संख्या 14,122 हो गई। राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 92,300 है।

दूसरी तरफ, हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में बुधवार को छह मकान आग में जलकर खाक हो गए। घटना में एक महिला की मौत हुई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीर ठाकुर ने बताया कि जिले के कोटखाई इलाके में फनेल गांव में हुई घटना में बिमला देवी की मौत हो गई। आग उनके मकान में लगी और फिर आस-पास के अन्य मकानों में फैल गई। उन्होंने बताया कि आग लगने के कारणों की जांच जारी है।

error: Content is protected !!