देर शाम मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई विधायक दल की बैठक, चुनाव आयोग से उपचुनाव टालने के आग्रह

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए वीरवार देर सायं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में भाजपा विधायक दल की बैठक हुई। बैठक में प्रमुख रूप से कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर चर्चा हुई, जिसमें मुख्यमंत्री ने विधायकों से लॉकडाऊन लगाने को लेकर फीडबैक लिया। पार्टी सूत्रों के अनुसार अधिकतर विधायक लॉकडाऊन लगाए जाने के पक्ष में नजर नहीं आए क्योंकि इससे प्रदेश की आर्थिकी पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। हालांकि विधायकों का यह भी कहना था कि सरकार अंतिम विकल्प के रूप में जनहित को ध्यान में रखते हुए लॉकडाऊन लगाने का निर्णय ले सकती है। इसी तरह कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सत्ता और संगठन ने बेहतर तालमेल के साथ काम करने पर भी सहमति जताई।

चुनाव आयोग से उपचुनाव टालने का किया जाएगा आग्रह

सूत्रों के अनुसार बैठक में मंडी संसदीय क्षेत्र और फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र उपचुनाव को लेकर भी चर्चा हुई। विधायक दल का मानना था कि मौजूदा हालात को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग से उपचुनाव को स्थिति के अनुसार कुछ समय आगे टालने का आग्रह किया जाए। इस तरह विधायक दल की बैठक में इन 2 विषयों पर ही प्रमुखता से चर्चा हुई। सूत्रों के अनुसार कुछ विधायकों ने यह भी सलाह दी कि व्यापारी वर्ग को विश्वास में लेकर बाजार खोलने व बंद करने में कुछ बंदिशों को लगाया जा सकता है।

संकट की इस घड़ी में लोगों को राहत देने का करें प्रयास

मुख्यमंत्री ने विधायकों से आग्रह किया कि वैश्विक संकट की इस घड़ी में वे अधिक से अधिक लोगों को राहत प्रदान करने के प्रयास करें। इसके लिए लोगों को आवश्यक सामान उपलब्ध करवाने के अलावा मरीजों को अस्पताल पहुंचाने सहित अन्य कार्यों में सहयोग दें। अपने स्तर पर लोगों को जागरूक करें तथा सार्वजनिक समारोह के लिए सरकार की तरफ से तय नियमों का पालन करने का आग्रह करें। बैठक में सरकार की तरफ से विधायक क्षेत्रों में किए जा रहे विकास कार्यों को लेकर भी चर्चा होने की सूचना है।

error: Content is protected !!