शिमला से हेली टैक्सी से महज 30 मिनटों में पहुंचेंगे चंडीगढ़, जानिए कितना आएगा खर्च

चंडीगढ़ (Chandigarh) से हिमाचल प्रदेश तक हवाई संपर्क को बढ़ावा मिलने वाला है, क्योंकि अब चंडीगढ़ से शिमला होते हुए मंडी, कुल्लू और रामपुर तक हेलीकॉप्टर टैक्सी सेवा (Heli Taxi) उपलब्ध होगी. इसे उड़ान 2 के तहत हेली टैक्सी नाम दिया गया है. वहीं, इस टैक्सी सेवा को पवन हंस द्वारा चलाया जा रहा है.

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (Chandigarh International Airport Limited) ने शिमला के रास्ते मंडी, कुल्लू और धर्मशाला सहित हिमाचल प्रदेश के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों के लिए हेली टैक्सी सेवा शुरू की है. इसके साथ कहा गया है कि’उड़ान-2′ के तहत चंडीगढ़ और शिमला पहले से ही हेलीकॉप्टर टैक्सी सेवा से जुड़े हैं. वहीं, केंद्र सरकार द्वारा उड़ान 2 योजना तहत शुरू हुई यह पहले सेवा सोमवार, शुक्रवार और शनिवार को मिली थी, लेकिन अब यह अन तीन अन्य दिन (मंगलवार, बुधवार और गुरुवार) को भी मिलेगी.

जानें कितना लगेगा समय

चंडीगढ़ से हेली टैक्सी से शिमला पहुंचने में 30 मिनट का समय लगेगा. इसके बाद हेली टैक्‍सी वहां 25 मिनट रुकने के बाद मंडी जाएगी, जहां 15 मिनट का स्‍टॉप होगा. इसके बाद वह कुल्लू के लिए रवाना होगी. वहीं, शिमला के लिए वापसी के दौरान रामपुर में स्‍टॉप होगा.

जानें कितना है किराया

चंडीगढ़ से शिमला के लिए प्रत्येक यात्री का एक तरफ का किराया 3665 रुपये है. जबकि मंडी के लिए आगे उड़ान भरने पर 3665 अतिरिक्त खर्च होंगे, यानी कुल मिलाकर 7330 का खर्चा आएगा. वहीं, मंडी से कुल्लू के लिए उड़ान भरने वालों को 3155 अधिक खर्च करने होंगे. साफ है कि चंडीगढ़-कुल्लू की एकतरफा उड़ान की कीमत 10485 प्रति यात्री होगी. अधिकारियों के मुताबिक, यदि हेलीकॉप्टर कुल्लू तक पूरी तरह से बुक है, तो संचालक चंडीगढ़ या शिमला से भी सीधे वहां तक ​​उड़ान भर सकता है.

हिमाचल में मंडी और रामपुर में हेलीपोर्ट तैयार

बता दें कि हिमाचल प्रदेश के मंडी और रामपुर में हेलीपोर्ट तैयार हो गए हैं. इस बीच आज से केंद्र सरकार की उड़ान-दो योजना के तहत हेली टैक्सी सेवा शुरू होगी. दिल्ली से केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और शिमला से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर हेली टैक्सी सेवा को हरी झंडी दिखाएंगे. हालांकि अब यह हेली टैक्‍सी संजौली हेलीपोर्ट के बजाय जुब्बड़हट्टी हवाई अड्डा से मंडी के लिए उड़ान भरेगी, क्‍योंकि संजौली हेलीपोर्ट को डीजीसीए से फिलहाल स्वीकृति नहीं मिली है.

फिलहाल हिमाचल में मंडी से धर्मशाला, धर्मशाला-मंडी, मंडी-शिमला, शिमला-रामपुर और फिर शिमला से चंडीगढ़ के लिए हेली टैक्‍सी उड़ान भरेगी. वहीं, मंडी व रामपुर से धर्मशाला, शिमला और चंडीगढ़ के लिए उड़ान-दो के तहत हेली टैक्सी सेवा शुरू होने से राज्य में पर्यटन को बढ़ावा मिलने की पूरी उम्‍मीद है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!