सामाजिक विषय – 2020 के सबक को कभी ना भूलें

जीवन में उतार चढ़ाव तो आते हैं। लेकिन 2020 पूरी दुनियां में उथल-पुथल कर गया। कभी किसी ने जीवन में सोचा नही था रेल की पटरीयां रुक जायेगी। हवाई जहाज के उड़ान थम जांएगे बस ,टैक्सियां ओट्टो थम जांएगे बिल्कुल शांत वातवरण बन गये।

बाजार,मॉल ,सिनेमाघर ,ऑफीस ,स्कूल,यूनिवर्सिटी,फिल्म सिटी , टीवी सीरियल तक थम गए। यहाँ तक की पड़ोस से पड़ोस के क़दम रुक गए ,भगवान ,खुदा ,अल्लाह, वाहे गुरू ,मसीहा के कपाट बंद हो गए देवीदेवताओ के पालकियों थम गए तांत्रिक _ ज्योतिष ,पंडितों के गिनती रुक गए।

हाँ, प्रकृति हरी भरी दिखी आसमान नीला दिखा समुन्द्र नीला दिखा नदी-नालों की शोर सुनें जंगली-जानवरों की टोलियां गाँव शहर पहुंच गए 2020 प्रकृति के लिए बहुत बेहतर रहा। लेकिन हम इंसानों के लिए बहूत कष्ट रहें। शिक्षा ,स्वास्थ्य ,रहन सहन सब पिछड़ गया। रोजगार छीन गए महंगई आसमाँ छू गई वायरस दिन प्रतिनिधि दिन बढ़ता गया लाखों लोग मारे गए।

2020 ने परिवार भी जोड़े एक साथ मिल कर सबने छुटियाँ बिताई। सबने नये-नये व्यंजन बनाये लगभग कई कुँकिग के मास्टर बन गए।

हाँ, प्रेमी जोडियाँ की शादियां रुक गए लेकिन कई चुप चाप शादियां कर गए कई 2020 में कई घर घरेलू हिंसा के शिकार हो गए मेले त्यौहार तीज जैसे सब बंद हो गए।

सैनिक ,पुलिस ,मेडिकल स्टाफ ,प्रसाशन और सफाई कर्मचारियो के जिम्मेदारियां बढ़ गए ऐसे में लाखों लोगों ने देश के खजाने में दान दिये दान में हमारे किन्नौर और हिमाचल के देवी – देवताओ ने बढ़ चढ़ कर भाग लिए।
शिक्षा विभाग के कर्मचारियो के लॉटरी जरूर लगे बैठे-बैठे इन्होनें ने भी वेतन पाए। हाँ, कई जगह अध्यापकों ने समाज सेवा में काफी योगदान दिया 2020 में जिनका धंधा लूटने का था, लूटते गए बैंको की ई,एमआई बढ़ते गए, टेलीफोन कंपनियां बहुत कमा गए, ऑन लाइन शिक्षा में बच्चों के लिए जिओ, एयरटेल आदि सेवाओ ने ना डाटा बढ़ाया ना फ्री दिया। लूटने वाले व्यापारियों ने 2020 में भी लूटते रहें। 2020 मेरे लिए भी बहुत कष्टदायक रहा, बिना काम का बेरोजगार रहा, मेरा सारा व्यवसाय ठप हो गया। मेरे कई कर्मचारी बेरोजगार हो गए।

मेरे जैसे लाखों लोग बेरोजगार हो गए काम काज रुक गए फिर भी इसी आस से लोग जीते गए, कभी तो वही दिन फिर से लौट आएंगे। अब थोड़ा बहूत सुधार हो गए हैं मास्क पहन कर, अब काम काज के लिए निकल सकते हैं दूरियां फिर भी बनाये रखना हैं। हलांकि वैक्सीन तैयार हो चुकी हैं, इस बीच कोरोना की नई ट्रेंड स्तक दे गई हैं, जो कोरोना वायरस से ज्यादा खतरनाक बताया गया हैं।

लेकिन जब तक विज्ञान हैं हमें विश्वास तो बनाये रखना हैं, जीने के लिए उम्मीदे तो जगाए रखना हैं। आज नही तो कल या कभी हालात सुधर जाएंगे, लेकिन इस बीच हमनें कई अपने खोये और भी बहूत कुछ खोया। जो कभी हम पा नही सकते। इतना तो हमें पता चला अंधविश्वास अब हमारे जहन से निकल गए।

विज्ञान ही बड़ा हैं इसे अब जान गए बहुत पाठ सीखा गया। ये 2020 रिश्तों का मूल्य, पैसों का मूल्य, जीवन का मूल्य, दोस्ती का मूल्य, प्रेमी का मूल्य प्रकति पर्यावरण का मूल्य, विज्ञान का मूल्य आदि अनगिनत पाठ सीखा गया, जो कभी भूल नही सकते। लॉक डाऊन,अन लॉक, दूरियां, मास्क सेनेटाईजर, कोरेनटीन, थाली बजाना, कैनी ढोल बजाना कैंडल, टॉर्च जलाना आदि हौंसला के नये तरीके सिख गए।

बहुत खट्टी-मीठी सौगात दे गया हैं, ये 2020 जो कभी हम भूल नहीं सकते जितना जीवन में हम कभी सीख नही सकते थे। 2020 ने हमें एक साल में जीवन के सारे पाठ सीखा गया।
2020 को कोटि कोटि नमन 🙏

Please Share this news:
error: Content is protected !!