बालीचौकी में दलित युवक पर हुआ जानलेवा हमला, गुंडों ने जातिसूचक शब्द कहते हुए लातों हाथों से पीटा

प्रदेश में अनुसूचित जाति लोगों पर अत्याचार दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे है। जिला कुल्लू में अनुसूचित दंपति पर हमला अभी तक शांत ही नही हुआ है, वहीं बालीचौकी में दलित युवक पर जानलेवा हुआ है। युवक को बालीचौकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से प्राथमकि उपचार करने उपरांत उसे क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू रेफर किया गया है ।

बालीचौकी बाजार से संबध रखने बाले युवक के पिता किर सिंह ने बताया कि उनका बेटा अपनी गाड़ी लेकर देवधार गया था। वहां पर कुछ समान्य वर्ग से संबध रखने वाले कुछ लोगों ने देवधार स्थान पर गाड़ी को पास देते हुए कहा कि कुछ लोगों ने उसे जातिसूचक शब्दों से गालीयां और जाति सूचक गालियां देते हुए कहा कि आपने हमें पंचायत से समन भेजा है ऐसे में हम आपको समन का मतलब बताते है और कुछ लोगों ने उन पर लात हाथों से मारना शुरू किया।

उसके बाद उन्होंने मेरे बच्चे को बुरी तरह से मारा यहां तक पत्थरों व डंडो से जान से मारने की कोशिश की। मेरे बच्चे ने बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाई। युवक के पिता किर सिंह ने बताया कि यह पहले भी उनके बच्चे पर मारपीट कर चुके है और जिसके के लिए उन लोगों को समन भी आ चुके थे, समन आने पर उनके बच्चे के साथ मारपीट दुबारा की। उन्होंने पुलिस अधिक्षक मंड़ी से मांग की है कि उक्त लोगों के खिलाफ उचित कार्यवाही करने की मांग की है। वहीं दूसरी तरफ पुलिसचौकी प्रभारी व्रिज भूषण ने बताया कि चौकी में एक युवक के साथ मारपीट का मामला सामने आया है।

error: Content is protected !!