नेरचौक बाजार में नही दिखते है फुटपाथ, अतिक्रमण से लोगों और दुकानदारों ने किए है सड़क पर कब्जे

नगर परिषद नेरचौक को अस्तित्व में आए आठ साल हो गए, लेकिन अभी तक राहगीरों के लिए फुटपाथ ही नहीं बन पाए। सड़क किनारे लोग व व्यापारी गाड़ियां खड़ी कर देते हैं। दुकानदार भी सामान को सड़क तक फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। पैदल चलने वालों को जान जोखिम में डालकर चलना पड़ रहा है। कई बार फुटपाथ के लिए प्रशासन से आग्रह किया गया लेकिन प्रशासन और न ही नगर परिषद ने इस बारे में गंभीरता दिखाई है। डडौर से नेरचौक तक के दायरे में सड़क पर कई वर्कशाप चल रही हैं। ट्रक व अन्य वाहनों की मरम्मत सड़क पर की जाती है।

राहगीरों को जान को जोखिम में डालकर सड़क पर पैदल चलना पड़ रहा है। जिस कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। मुख्य चौक से रत्ती तक कहीं पर भी पैदल चलने के लिए फुटपाथ नहीं है। यातायात का दबाव यहां पर बहुत ज्यादा है। दूसरी तरफ नेरचौक मुख्य चौक से भंगरोटू तक भी यही हाल है। मेडिकल कालेज के आसपास और भी बुरा हाल हो चुका है। जबसे मेडिकल कालेज की शुरुआत हुई है अतिक्रमण बढ़ गया है। रेहड़ी-फड़ी धारकों ने यहां पर अतिक्रमण किया हुआ है। बेतरतीब खड़े वाहनों से भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। सब्जी फल व अन्य रेहड़ी-फड़ी धारकों ने भी सड़क किनारे डेरा जमाया हुआ है। नेरचौक कस्बे का तेजी से विस्तार हो रहा है। यहां पर आसपास के क्षेत्रों से रोजाना हजारों लोग अपने कार्य निपटाने के लिए आते हैं। मेडिकल कालेज, मेडिकल यूनिवर्सिटी सहित अन्य शिक्षण संस्थान व्यापारिक प्रतिष्ठान के कारण यह क्षेत्र शिक्षा के हब के रूप में प्रदेशभर में अलग पहचान बना रहा है। नहीं बन पाई रेहडी-फड़ी मार्केट

नेरचौक क्षेत्र में रेहड़ी-फड़ी धारकों ने प्रशासन से उन्हें स्थान चिह्नित करने की मांग की है। कई सालों से रेहड़ी-फड़ी धारकों की मांग को दरकिनार किया जा रहा है। नगर परिषद नेरचौक द्वारा रेहडी-फड़ी धारक से रोजाना या मासिक शुल्क वसूला जाता है, लेकिन उन्हें सुविधा नहीं दी जा रही है। नगर परिषद नेरचौक द्वारा अभी तक फुटपाथ का निर्माण नहीं करवाया गया है। इसका खाका तैयार किया जा रहा है। जल्दी ही फुटपाथ के निर्माण के लिए स्वीकृति ली जाएगी। अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सड़क पर अतिक्रमण कर सामान रखने वालों को चेतावनी दी गई है।

-परम देव, उपाध्यक्ष नगर परिषद नेरचौक।

नेरचौक व्यापार मंडल द्वारा कई बार प्रशासन से मांग की गई कि सड़क के दोनों ओर पक्की नालियों के साथ साथ फुटपाथ का निर्माण भी करवाया जाए। न तो नगर परिषद और न ही प्रशासन गंभीरता दिखा रहा है। दुकानदारों का काम तभी चलता है जब ग्राहक पैदल चलकर उनके पास पहुंचे। नेरचौक में पैदल चलने योग्य रास्ता ही नहीं है। क्षेत्र में करीब 15 बैंक हैं। इनके कर्मचारियों की 50 से अधिक गाड़ियां हमेशा खड़ी रहती हैं। मंडी, सुंदरनगर व अन्य स्थानों के लिए जाने वाले लोग नेरचौक में सड़क किनारे गाड़ी खड़ी करके चले जाते हैं। लोक निर्माण विभाग ने 2014 में नालियां बनाने के लिए जेसीबी से खोदाई की थी जो आज तक नहीं बन पाई हैं।

-गोविंद ठाकुर, अध्यक्ष व्यापार मंडल नेरचौक।

HOTEL FOR LEASEHotel New Nakshatra

Hotel News Nakshatra for Lease. Awesome Property with 10 Rooms, Restaurant and Parking etc at Kullu.

error: Content is protected !!