हिमाचल में लगेगी पहली गोला बारूद बनाने वाली फैक्टरी, 10 हजार लोगों को रोजगार मिलने की संभावना

Himachal News: सोलन जिले के नालागढ़ में हिमाचल प्रदेश की पहली गोला-बारूद बनाने वाली फैक्ट्री स्थापित होगी। इसके लिए मंगलवार को प्रदेश सरकार ने एक निजी कंपनी कंपनी मैसर्ज एसएमपीपी प्राइवेट इंडिया लिमिटेड के साथ 5000 करोड़ रुपये का एमओयू साइन किया है। इस फैक्ट्री में दस हजार लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। प्रदेश में फक्ट्री लगाने के लिए निजी कंपनी को करीब एक हजार एकड़ जमीन की जरूरत होगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की उपस्थिति में शिमला सचिवालय में प्रदेश सरकार और निजी कंपनी के बीच प्रदेश में टैंक और तोपों के लिए असलहे तैयार करने की इकाई स्थापित करने के लिए एमओयू हस्ताक्षरित किया गया।

बताते हैं यह देश की पहली कंपनी है जो इस तरह की इकाई स्थापित कर रही है। इससे पहले कंपनी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भी यह उद्योग स्थापित करने का प्रयास किया था, लेकिन इसे हिमाचल प्रदेश में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया गया है। प्रदेश सरकार की ओर से निदेशक उद्योग राकेश प्रजापति और मैसर्ज एसएमपीपी प्राइवेट इंडिया लिमिटेड की ओर से प्रबंध निदेशक डा. एससी कांसल ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग राम सुभग सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव जेसी शर्मा, संयुक्त निदेशक उद्योग नरेश शर्मा आदि भी मौजूद थे।

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!