ऊना के पीजी कॉलेज में छात्रों के बीच मारपीट, चार छात्र बुरी तरह लहूलुहान

ऊना. हिमाचल प्रदेश के ऊना के पीजी कॉलेज (Una PG College) में सोमवार सुबह छात्र गुटों में खूनी संघर्ष होने का मामला सामने आया है. इस खूनी संघर्ष में 4 छात्र बुरी तरह से लहूलुहान हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए क्षेत्रीय अस्पताल ले जाया गया है.

वहीं, पुलिस ने घटना के संबंध में जांच शुरू कर दी. बताया जा रहा है कि वारदात के दौरान दर्जनों छात्र इस मारपीट में शामिल रहे. कैंपस में बिगड़े माहौल के चलते कॉलेज प्रशासन ने तुरंत प्रभाव से 1 दिन के लिए टीचिंग को सस्पेंड कर डाला. यही नहीं, कुछ देर में कॉलेज कैंपस को पूरी तरह से खाली करा लिया गया. वहींख्‍ घटना की जांच के लिए पुलिस को भी मौके पर बुला लिया गया है. जबकि पुलिस भी कॉलेज कैंपस में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगालने में जुट गई है.

पीजी कॉलेज ऊना के कैंपस में सोमवार सुबह उस वक्त हड़कंप मच गया जब छात्र गुटों के बीच खूनी वारदात शुरू हो गई. घटना में कॉलेज के ही करीब 4 स्टूडेंट्स लहूलुहान हुए हैं जिन्हें उपचार के लिए रीजनल अस्पताल ले जाया गया है. इसके बाद कॉलेज प्रशासन ने पैदा हुई अफरा तफरी के बीच फौरन टीचिंग प्रोसेस को रद्द कर दिया.

वहीं, पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर कॉलेज में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है, ताकि वारदात को अंजाम देने वाले युवकों की पहचान करके उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सके. वारदात में घायल हुए सभी छात्र जिला मुख्यालय के नजदीकी गांव बहडाला के बताए जा रहे हैं.

ऊना के पीजी कॉलेज में इससे पहले भी कई बार मारपीट हो चुकी है.

कॉलेज प्रिंसिपल ने कही ये बात

जबकि पीजी कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ त्रिलोक चंद ने कहा कि वारदात के दौरान दर्जनों छात्र एकदम एक जगह पर इकट्ठा हो गए जिसके चलते अफरा-तफरी मच गई. हालांकि इस दौरान कॉलेज के सिक्योरिटी गार्ड ने भी छात्रों को शांत करने का प्रयास किया, लेकिन बात ना बनते देख फौरन पुलिस को मौके पर बुलाया गया. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि इस घटना के बाद एक दिन के लिए टीचिंग सस्‍पेंड करने के साथ कैंपस को तत्‍काल खाली करा लिया गया, ताकि कुछ और बवाल न हो सके.

Please Share this news:
error: Content is protected !!