चुनाव आयोग ने फिर टाले हिमाचल के विधानसभा और लोकसभा उपचुनाव

शिमला। हिमाचल (Himachal) के एक लोकसभा समेत तीन विधानसभा उपचुनाव (By Election) को फिलहाल के लिए टाल दिया गया है।

पहले माना जा रहा था कि आगामी चंद हफ्तों में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाएगा, लेकिन मुख्य सचिव की आपदा और फेस्टिवल सीजन की दलील को सुनने के बाद आयोग ने उपचुनाव को टाल दिया है। हालांकि, फेस्टिवल सीजन के बाद प्रदेश में उपचुनाव कब होंगे। इसपर अभी फिलहाल कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, प्रदेश में हो रही बारिश से बाढ़ और आपदा का खतरा और त्योहारी सीजन के चलते फिलहाल उपचुनाव नहीं होंगे। हालांकि, आने वाले वक्त में स्थिति सामान्य होती है तो उस वक्त क्या आदेश जारी होते हैं, इस संबंध में अभी कुछ कहना उचित नहीं होगा।- सी पालरासू , हिमाचल प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी

आपको बता दें कि मंडी और फतेहपुर सीट को खाली हुए छह महीने का समय पूरा हो गया है। ऐसे में चुनाव आयोग (Election Commission) छह महीने के भीतर उपचुनाव कराने के लिए बाध्य था। अब आयोग ने स्पष्ट कर दिया है कि वह केवल पश्चिम बंगाल (West Bengal) की एक सीट पर उपचुनाव कराएगा और बाकी सीटों के चुनाव निरस्त कर दिए हैं।

वहीं, नरेंद्र बरागटा के निधन से खाली हुई जुब्बल कोटखाई विधानसभा सीट और वीरभद्र सिंह के निधन से खाली हुई अर्की विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव की संभावना ना के बराबर है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में एक वर्ष से भी कम समय बचेगा। इस वजह से यह दोनों सीटें भी खाली रहने की संभावना है। अंदेशा जताया जा रहा है कि भारत निर्वाचन आयोग मंडी लोकसभा क्षेत्र में कुछ रिलैक्सेशन के साथ उपचुनाव करवा सकता है, क्योंकि लोकसभा के अगले चुनाव 2024 में होने हैं।

error: Content is protected !!