कागजों का थेला लेकर जनमंच में पहुंची बुजुर्ग महिला, कहा, मेरी रजिस्ट्री नही कर रहा राजस्व विभाग

ऊना। गगरेट विस क्षेत्र के मुबारिकपुर में आयोजित किए गए जनमंच के दौरान राजस्व, ग्रामीण विकास, पुलिस तथा जल शक्ति विभाग से संबंधित अधिकतर समस्याएं प्राप्त हुई।

कार्यक्रम के दौरान भंजाल अप्पर निवासी बुजुर्ग महिला (Elderly Woman) राजेभश्वरी देवी ने हाथों में कागज का बैग लिए उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर के समक्ष फरियाद लगाते हुए कहा कि राजस्व विभाग मेरी रजिस्ट्री नहीं करता, जबकि मेरा मकान बन चुका है। उन्होंने कहा कि भूमि बेचने वाले रजिस्ट्री कराने में आना.कानी कर रही है जबकि अदालत में भी मैं केस जीत चुकी हूं। बुजुर्ग महिला ने भावुक होते हुए कहा कि जमीन बेचने वाले अभी भी अढ़ाई लाख रुपए की मांग कर रहा है। इस पर उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर (Industries Minister Bikram Singh Thakur) ने कहा कि राजस्व अधिकारी तुरंत इस पर कार्रवाई करें।

वहीं, लोहरली निवासी शालू ठाकुर ने रोते हुए कहा कि उसके पति की हत्या अढ़ाई वर्ष पहले हो चुकी है और राजस्व विभाग अपने पति की उत्तराधिकारी के रूप में जमीन उनके नाम नहीं कर रहा है। इस विषय पर भी मंत्री बिक्रम ठाकुर ने राजस्व विभाग (Revenue Department) के अधिकारियों को उचित कार्रवाई के निर्देश दिए। जनमंच में अप्पर अंदौरा निवासी सुरेंद्र कुमार कहा कि उनका पुत्र एक फैक्ट्री में जेसीबी चलाने का काम करता था और एक दिन उसे मैनेजर ने हायड्रा चलाने के लिए कहा तो उसने कहा कि मुझे यह नहीं चलानी आती। जिस कारण मैनेजर ने बेटे के साथ मारपीट की तथा उसे गंभीर चोटें आईं। इस संबंध में जब उन्होंने पुलिस में शिकायत की तो पुलिस वालों ने उल्टा उन्हीं के विरुद्ध मामला दर्ज कर दिया इस विषय पर मंत्री ने कहा कि मामला गंभीर है और पुलिस अधिकारियों को तुरंत मामला की निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए।

उद्योग, श्रम एवं रोजगार व परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ने जनमंच के दौरान ऊना जिला की तीन महिला उद्यमिता को सम्मानित किया। जिनमें गगरेट निवासी नीति आर्या को सम्मान प्रदान किया है। नीति वर्तमान में अपने पति के साथ मिलकर कैंडल लाइट ड्यूक नाम से मोमबत्ती का कारोबार कर रही हैं, जिन्हें देश के कोने-कोने में बेचा जा रहा है। वहीं धमांदरी निवासी शिवाली धीमान को कंपोस्ट खाद तैयार कर उद्यमिता को नई दिशा प्रदान करने के लिए गरिमा सम्मान दिया गया। उन्होंने अपनी बंजर भूमि पर कंपोस्ट खाद तैयार करना आरंभ किया था और आज वह किसानों को कंपोस्ट खाद बेच रही हैं। इसके अतिरिक्त अंबोटा निवासी निशा सूद शहद के कारोबार से जिला ऊना का स्वाद हर कोने तक पहुंचाने का कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। निशा अपने पुत्र के साथ मिलकर मधुमक्खी पालन से जुड़ी हैं।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!