Treading News

विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस पर मंडी में जिला स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम

मंडी। मासिक धर्म से जुड़ी वर्जनाओं को दूर करने और नकारात्मक सामाजिक मानदंडों को बदलने के उद्देश्य के साथ 28 मई शनिवार को विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के उपलक्ष्य में मंडी में जिला स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य और महिला एवं बाल कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल मंडी के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में उपायुक्त जीएसटी मनु पंवार मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थिति थीं जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य चिकित्सा अधिकारी मंडी डॉ. देवेन्द्र शर्मा ने की ।  

इस अवसर पर मनु पंवार ने कहा कि यह अच्छा है कि इस दिवस के जरिए आज पूरे विश्व में युवा लड़कियों और महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता, सुरक्षा, गरिमा व आत्मविश्वास, बिना शर्म के साथ व्यवस्थित करने के उद्देश्य से जागरूक किया जा रहा है । उन्होंने कहा की मासिक धर्म को लेकर समझ बढ़ाने की जरूरत है। यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, जो लड़कियों में 11 से 13 साल की उम्र में शुरू हो सकती है तथा  28 से 35 दिनों का मासिक चक्र रहता है । उन्होंने बताया कि अभी भी पूरे विश्व के कुछ समाज में इस विषय पर खुल कर बात नहीं की जाती है, जिसके चलते महिलाओं व किशोरियों को शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ जानलेवा बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। उन्होंने सभी सरकारी व् गैर सरकारी संस्थाओं से अपील करते हुए कहा कि हमें एक ऐसे भारत का निर्माण करना है जिसमें हर महिला और लड़की जिस भी समय अपनी निजता, सुरक्षा एवं बिना शर्म के साथ अपने मासिक धर्म को स्वस्थ तरीके से प्रबंधित करे ।
 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी मंडी डा. देवेन्द्र शर्मा ने बताया की नवीनतम राष्ट्रीय परिवार सर्वेक्षण-5 के आंकड़ों के अनुसार मासिक धर्म के दौरान महिलाओं में 15-24 आयु वर्ग में सुरक्षा के स्वच्छ तरीकों में सुधार आया है, परन्तु अभी भी गाँव में महिलाएं माहवारी के दौरान स्वच्छता न होने के कारण कई गंभीर बीमारियों जैसे हेपेटाइटिस बी, प्रजनन मार्ग के अंगों के संक्रमण तथा सर्वाइकल कैंसर आदि बीमारियों के खतरे से जूझ रही हैं।।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश ठाकुर ने बताया कि जिला में राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम माहवारी स्वच्छता तथा पोषण अभियान के माध्यम से जन जागरूक की दिशा में काम किया जा रहा है। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें प्रथम स्थान पर समृद्धि, दूसरे पर गार्गी तथा तीसरे पर याशिना रहीं । मुख्य अतिथि ने सभी विजेताओं को नगद पुरस्कार वितरित किए। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी कल्याण चंद, प्रधानाचार्य नवीन ठाकुर, महिला कल्याण अधिकारी दीपिका राणा, जिला स्वास्थ्य शिक्षक सोहन लाल, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा व स्कूल के प्रवक्ता तथा स्कूल के लगभग 150 प्रतिभागियों ने भाग लिया ।