स्थानीय लोगों को पावर स्टेशन से निकालने पर एनएचपीसी के गेट पर धरना प्रदर्शन

सलूणी: एनएचपीसी बैरा स्यूल पावर स्टेशन सुरंगानी में लगे स्थानीय लोगों को निकालने पर ग्राम पंचायत बयाना, ग्राम पंचायत सिंगाधार, ग्राम पंचायत मंजीर ने एनएचपीसी के गेट के सामने धरना-प्रदर्शन किया।

एनएचपीसी में लगे लेबर कर्मचारियों ने बताया कि एनएचपीसी सुरंगानी प्रबंधन द्वारा 2 लोगों को निकालने के लिए कहा गया था जिस वजह से सिविल डिपार्टमैंट (वाटर सप्लाई और सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट) में काम कर रहे 30 लोगों में हड़कंप मच गया। इन लेबर कर्मचारियों को एनएचपीसी सुरंगानी में लगभग 15 से 20 साल काम करते हो चुके हैं। उनका कहना है कि अगर अब उन्हें यहां से निकाल दिया जाएगा तो वे अपने जीवन का निर्वाह किस तरह से कर पाएंगे। इसी मुद्दे को लेकर आज एनएचपीसी सुरंगानी के गेट पर धरना प्रदर्शन किया गया।

इस मौके पर ग्राम पंचायत बयाणा की प्रधान निशा कुमारी, ग्राम पंचायत बयाणा के उप प्रधान अजय भारद्वाज, मंजीर पंचायत के उपप्रधान नरेंद्र ठाकुर, सिंगाधार पंचायत के प्रधान संजीव ठाकुर, पूर्व बीडीसी मैंबर मोहिंदर सिंह ठाकुर, पूर्व प्रधान परमिंदर, पूर्व प्रधान सुरिंदर भारद्वाज, पंचायत बयाना के वार्ड मैंबर चैन लाल, सरीन, मीना शर्मा, दिशो देवी, उमा देवी व स्थानीय लोग शामिल रहे। वहीं डीजीएम एनएचपीसी सुरंगानी सीआर शर्मा ने बताया कि हमें हैड ऑफिस से 28 लोगों की अप्रुब्ल आई थी तो 28 लोगों को ही रखना था लेकिन किसी भी लेबर कर्मचारी को नहीं निकाला जाएगा। बाकी के कर्मचारियों को दूसरे डिपार्टमैंट में एडजस्ट कर लिया जाएगा।

Please Share this news:
error: Content is protected !!