क्या मुख्यमंत्री के गृह जिले में मुर्दे भी करेंगे पंचायत चुनावों में मतदान; मंडी

मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश के गृह जिले मंडी में मतदाता सूचियों में भारी गड़बड़ सामने आई है। मामला मंडी नगर निगम की मतदाता सूचियों से संबंधित है। जानकारी के मुताबिक मंडी नगर निगम के पुरानी मंडी के वार्ड-2 में 87 ऐसे मतदाता शामिल है। जिनको मरे हुए बर्षों बीत चुके है। लेकिन मतदाता सूचियों में वह लोग आज भी जिंदा है और क्या पता वोट भी करते हो।

नगर निगमों में मृतक का परिवार मृत्यु की सूचना पार्षद को देता है और पार्षद नगर निगम को, उसके बाद मृतकों को मतदाता सूचियों से हटाने का काम नगर परिषद का होता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि मंडी नगर परिषद में कई सैकड़ों ऐसे लोग है जिनकी मृत्यु को सालों हो चुके है लेकिन नगर परिषद ने आज तक उनके नाम नही हटाए। मंडी नगर परिषद में कुल 14 वार्ड है और आम लोगों का मानना है कि यह यह संख्या हजारों में भी हो सकती है और यह संख्या वैध वोटिंग से भी चुनावों में भारी फेर बदल कर सकती है।

मिली जानकारी के मुताबिक समाजसेवी सरिता हांडा ने नगर परिषद की इस कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए मंडी नगर निगम के वोटरों की लिस्ट फिर से बनाए जाने की मांग उठाई है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!