देवभूमि में मानवता शर्मसार; कूड़ा उठाने वाली ट्रॉली में शमशान घाट ले जाया गया मृतक का शव

हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन से एक शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आई है। जहां पर कटचे के गाड़ी में कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद उसे शमशान घाट तक पहुंचाया हुआ है। बताया जा रहा है कि बद्दी स्थित काठा अस्पताल में हुई संक्रमित की मौत के बाद कचरे उठाने वाली गाडी में अंतिम विदाई नसीब हुई। यह लापरवाही नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी व खंड चिकित्सा अधिकारी द्वारा बरती गई। जिस गाडी से नप शहर की गंदगी एकत्रित करता है उसी गाडी में शव को ले जाया गया। जब लापरवाही सामने आई तो भी नप ईओ को अपनी गलती महसूस नही हुई उन्होनें कैमरे पर आने से साफ इनकार कर दिया।

ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि बीबीएन में स्वास्थ्य सेवाओं का दम फूल चुका है। अधिकारियों की लापरवाही से राज्य सरकार व स्वास्थ्य विभाग की छवि खराब हो रही है है।

बता दें कि अर्की निवासी कोरोना संक्रमित 54 वर्षीय व्यक्ति की मौत के बाद एक एबुलेंस ना मिलने केचलते कचरा उठाने वाली ट्राली में भरकर अस्पताल से सरेआम शमशानघाट पहुंचाया गया। स्वास्थ्य विभाग व नगर परिषद बद्दी के अधिकारियों की लापरवाही ने शर्मनाक नजारा पेश किया है। जानकारी के अनुसार मंगलवार रात काठा अस्पताल में एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई जो कि अर्की का रहने वाला था।

error: Content is protected !!