CPIM का शिमला में महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) द्वारा केंद्रीय कमेटी के आह्वान पर महंगाई के खिलाफ शिमला शहर में प्रदर्शन किया गया। इस दौरान डीसी कार्यालय से नाज तक रैली निकाली गई।

इस प्रदर्शन में जिला सचिव संजय चौहान, विजेंद्र मेहरा, फालमा चौहान, बालक राम, जगमोहन ठाकुर, अनिल ठाकुर, नेहा, जगत राम, बलबीर पराशर, किशोरी डडवालिया, विनोद बिसरांटा, चन्द्रकान्त, अमित आदि ने भाग लिया।

कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव संजय चौहान ने कहा कि देश व प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा जो नीतियां लागू की जा रही हैं, उससे महंगाई में भारी वृद्धि हुई है। पैट्रोल व डीजल पर केंद्र सरकार के द्वारा निरन्तर उत्पाद शुल्क बढ़ाया जा रहा है। जिससे पैट्रोल व डीजल के दाम 110 रुपए से पार कर गए। वर्ष 2014 में जबसे मोदी की सरकार आई है पैट्रोल और डीजल पर कई गुना उत्पाद शुल्क बढ़ाया है। वर्ष 2014 में सरकार सरकार उत्पाद शुल्क से 92,000 करोड़ रुपए एकत्र करती थी और वर्ष 2020 में 3,27,000 करोड़ रुपए एकत्र किए गए। सरकार एक ओर कॉर्पोरेट घरानों को छूट दे रही है जबकि दूसरी ओर आम जनता पर टैक्स का बोझ डाला जा रहा है। रसोई गैस की कीमतों में निरंतर वृद्धि की जा रही है। आज घरेलू गैस का सिलैडर 1000 रुपए से ऊपर मिल रहा है और व्यवसायिक सिलैंडर 2200 रुपए से ऊपर मिल रहा है।

उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों से खाद्यान्न, खाद्य तेल, प्याज, टमाटर व अन्य खाद्य वस्तुओं की कीमतों में भारी वृद्धि हो रही है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली से डिपो में मिलने वाले राशन में सबसिडी में कटौती की जा रही है। बिजली, पानी, कूड़ा उठाने की फीस, प्रॉपर्टी टैक्स, बस किराया व अन्य सेवाओं की कीमतों में वृद्धि की जा रही है। सीपीएम भाजपा सरकार की इन मजदूर, किसान व आम जनता विरोधी नीतियों को पलटने के लिए तब तक संघर्ष जारी रखेगी जब तक सरकार यह इनको पलट नहीं देती।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

HOTEL FOR LEASEHotel New Nakshatra

Hotel News Nakshatra for Lease. Awesome Property with 10 Rooms, Restaurant and Parking etc at Kullu.

error: Content is protected !!