बढ़ती महंगाई के विरोध में माकपा कमेटी ने तहसीलदार के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

Himachal News: बढती मंहगाई को लेकर माकपा क्षेत्रीय कमेटी बालीचौकी ने तहसीलदार के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन में कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने की मांग का उल्लेख भी किया है। जानकारी देते हुए माकपा सचिव महेंद्र राणा ने बताया कि कि केंद्र की मोदी सरकार लगातार पेट्रोल और डीजल के साथ-साथ जरूरी खाद्य वस्तुओं की कीमतें बढा रही है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें 100 का आंकड़ा पार कर गई है।

उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों की वृद्धि के साथ-साथ तमाम वस्तुओं के दाम भी बढ़ते जा रहे हैं, जिसके चलते आज खाद्य वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही है। सरसों की तेल की कीमत 200 का आंकड़ा पार कर गई है, ऐसी स्थिति में आम व्यक्ति का गुजर-बसर बहुत मुश्किल हो गया है। इसलिए माकपा क्षेत्रीय कमेटी बालीचौकी यह मांग करती है कि महामहिम राष्ट्रपति हस्तक्षेप करते हुए पेट्रोल, डीजल व जरूरी खाद्य वस्तुओं की कीमतों पर रोक लगाए।

महेंद्र राणा ने कहा ने कहा कि कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करते हुए नई पेंशन स्कीम को समाप्त करें, क्योंकि नई पेंशन स्कीम कर्मचारियों की गाढ़ी कमाई को निजी कंपनियों को मुनाफा पहुंचाने का माध्यम है और तमाम कर्मचारियों के साथ छलावा है। इसलिए माकपा क्षेत्रीय कमेटी मांग करती है कि महामहिम राष्ट्रपति हस्तक्षेप करते हुए कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करते हुए नई पेंशन स्कीम को समाप्त करें। इस अवसर पर मंडल में नारायण सिंह, मोहन भारती, गिरिराज अजय कुमार, विजय कुमार, माकपा क्षेत्रीय कमेटी सचिव महेंद्र राणा उपस्थित थे।

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!