सन्यास लेने से मुकरे कांग्रेसी नेता कौल सिंह, कहा, मेरी बात चुनावी जुमला

मंडी। हिमाचल उपचुनाव में मंडी संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी (BJP candidate) रहे ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर भले ही चुनाव हार गए हों, लेकिन उन्होंने कांग्रेस के दिग्गज नेता को सन्यास पर भेजने का इंतजाम कर दिया था।

यहां बात कौल सिंह ठाकुर (Kaul Singh Thakur) की हो रही है, जिन्होंने चुनावों के दौरान इस बात का ऐलान किया था कि अगर ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को अपनी गृह पंचायत से बढ़त मिल गई तो वे सन्यास ले लेंगे। हालांकि अब वो इस बात को चुनावी जुमला करार दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव के समय में ऐसी बातें होती रहती हैं। मेरे भविष्य का फैलसा द्रंग की जनता करेगी।

बता दें कि कौल सिंह ठाकुर ने उपचुनाव (By Election) में प्रचार के दौरान इस बात का ऐलान किया था कि अगर ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को अपनी गृह पंचायत से बढ़त मिल गई तो वे सन्यास ले लेंगे। जबकि मंगलवार को उपचुनाव के परिणाम (Result) में बीजेपी प्रत्याशी खुशाल ठाकुर (BJP candidate Khushal Thakur) ने अपनी गृह पंचायत नगवाईं से 46 मतों की बढ़त ली है। जिसके चलते अब कौल सिंह ठाकुर सन्यास लेने की बात से इनकार कर दिया है।

कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान कई जुमले कहे जाते हैं और उनकी यह बात भी सिर्फ एक चुनावी जुमला ही थी। उन्होंने कहा कि द्रंग से बीजेपी प्रत्याशी को अधिक बढ़त हासिल करने से रोकने में पूरी कोशिश की और वे इसमें कामयाब भी हुए हैं। द्रंग से बीजेपी प्रत्याशी को मात्र 2621 मतों की लीड ही मिल पाई है, जबकि बीजेपी प्रत्याशी खुद इसी चुनाव क्षेत्र से संबंध रखते हैं।

Please Share this news:
error: Content is protected !!