हिमाचल में आचार सहिंता खत्म, विकास को रफ्तार देने के लिए विभागों को निर्देश जारी

हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव के लिए लागू की गई आदर्श आचार संहिता खत्म होते ही मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रदेश सरकार को रिकॉर्ड सौंप दिया है। बुधवार को मुख्य सचिव सहित अन्य सचिवालय वरिष्ठ अधिकारियों ने विभागों की समीक्षा बैठक की।

परिवहन, लोक निर्माण विभाग, उद्योग, खाद्य आपूर्ति विभाग अतिरिक्त मुख्य सचिव व सचिवों ने विभागों के अधिकारियों को काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। लोक निर्माण विभाग में जहां सड़कों को ठीक किया जाना है वहीं उद्योग विभाग में इन्वेस्टर मीट और खाद्य आपूर्ति विभाग में उपभोक्ताओं को दिए जा रहे सस्ते राशन की समीक्षा की गई।

हिमाचल में 28 सितंबर को मंडी संसदीय क्षेत्र और विधानसभा उपचुनाव की घोषणा हुई थी। इसी दिन मंडी संसदीय क्षेत्र में उपचुनाव के चलते जिला मंडी, लाहौल-स्पीति, किन्नौर और जिला कुल्लू आचार संहित लग गई थी। इसी तरह जिला कांगड़ा के फतेहपुर, जिला शिमला के कोटखाई और जिला सोलन जिले के अर्की विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के चलते आचार संहिता लगाई गई थी। इन जिलों में सिर्फ वहीं काम हुए जिनकी चुनाव आयोग ने मंजूरी दी थी। अब आचार संहिता हटते ही विभागों में बैठकों का दौर शुरू हो गया है।

दिवाली के बाद नवनिर्वाचित विधायकों को दिलाई जाएगी शपथ
नवनिर्वाचित विधायकों को दिवाली के बाद ही पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई जाएगी। विधानसभा अध्यक्ष छह नवंबर को शिमला आएंगे। आठ या नौ नवंबर को शपथ दिलाई जाने की संभावना है। जुब्बल-कोटखाई, फतेहपुर और अर्की में विजयी कांग्रेस के तीनों विधायकों को शपथ दिलाई जानी है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!