मुख्यमंत्री के हैलीकॉप्टर को करनी पड़ी आपातकालीन लैंडिंग, खराब मौसम के कारण हुई समस्या

धर्मशाला से शिमला लौट रहे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के हेलीकाप्टर की बिलासपुर के लुहणू मैदान में आपात लैैंडिंग करवानी पड़ी। मौसम में आए बदलाव के कारण दृश्यता कम होने पर यह फैसला लेना पड़ा। बाद में मुख्यमंत्री सड़क से शिमला के लिए रवाना हुए। मुख्यमंत्री बुधवार को कांगड़ा जिले के एकदिवसीय दौरे पर आए थे। धर्मशाला से शाम को लौटते समय मौसम में बदलाव आ गया और बादल छा गए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पांच बजे के करीब पुलिस मैदान में पहुंच गए थे लेकिन मौसम ठीक न होने के कारण हेलीकाप्टर की उड़ान संभव नहीं थी। उन्हें करीब आधे घंटे तक उड़ान के लिए इंतजार करना पड़ा।

मौसम साफ होते ही वह स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल के साथ हेलीकाप्टर से शिमला के लिए रवाना हुए। बिलासपुर तक पहुंचते-पहुंचते कम दृश्यता के कारण हेलीकाप्टर को लुहणू मैदान में उतारने का फैसला लिया गया। यहां उपायुक्त रोहित जम्वाल, विधायक सुभाष ठाकुर, सीएमओ डा. प्रकाश दड़ोच सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और उनका स्वागत किया। कुछ देर विधायक व अधिकारियों से बातचीत के बाद मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री सड़क से शिमला के लिए रवाना हो गए।

मुख्यमंत्री ने स्वेच्छा से रक्तदान करने का आग्रह किया

शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गैर सरकारी संस्थानों, धार्मिक संगठनों और युवाओं से स्वेच्छा से रक्तदान करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि यह मानवता की सबसे बड़ी सेवा है। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न हिस्सों में कोविड प्रोटोकाल के अनुसार रक्तदान शिविर आयोजित किए जाएं।

error: Content is protected !!