College Open in Himachal: 150 दिनों बाद कॉलेजों में लौटी रौनक, बच्चे पहुंचे कॉलेज

शिमला. कोरोना वायरस के चलते पांच से बंद हिमाचल प्रदेश के कॉलेज बुधवार से खुल गए हैं. 150 दिनों बाद कॉलेज में रौनक लौटी है. हालांकि, ज्यादा संख्या में बच्चे नहीं पहुंचे हैं.

शिमला के चौड़ा मैदान में स्थित कॉलेज में कम संख्या में स्टूडेंट आए हैं. वहीं, एक कमरे में 50 फीसदी कैपेसिटी के साथ ही बच्चों की पढ़ाई होगी. वहीं, दूसरी ओर कॉलेज खुलने से स्टूडेंट ने भी राहत की सांस ली है. इससे पहले, कॉलेज में एडमिशन हो चुकी थी.

जानकारी के अनुसार, मार्च में कुछ समय के लिए कॉलेज खुलने के बाद नियमित कक्षाएं लगी थी. लेकिन बाद में कोरोना संक्रमण बढ़ा तो सरकार ने अप्रैल से कॉलेजों को बंद कर दिया था. अब शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य विभाग की एसओपी के अनुसार, कॉलेजों में फिर कक्षाएं लगना शुरू हो गई हैं.

कैसा चलेंगी क्लासिज
एसओपी के अनुसार, एक कमरे में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सिर्फ 50 फीसदी बच्चों को ही बैठाया जाएगा. बच्चों की संख्या ज्यादा होगी तो दूसरे कमरों में कक्षा लगेगी. थर्मल स्क्रीनिंग से विद्यार्थियों और शिक्षकों-गैर शिक्षकों की एँट्री होगी. फेस मास्क पहनना जरूरी होगा. विद्यार्थियों की संख्या के हिसाब से बड़े कॉलेजों में वैकल्पिक दिनों में भी कक्षाएं लगाने की छूट रहेगी. हर कॉलेज विद्यार्थियों की संख्या के अनुसार टाइम टेबल बनाएगा. गौरतलब है कि कॉलेजों में सेकेंड और फाइनल ईयर के लिए रोल ऑन आधार पर दाखिले हुए हैं. 16 अगस्त से ऑनलाइन कक्षाएं लग रही थी. फर्स्ट ईयर की दाखिला प्रक्रिया 31 अगस्त को समाप्त हो गई है. यूजीसी के निर्देशानुसार एक सितंबर से कॉलेजों में नया शैक्षणिक सत्र शुरू हुआ है.

स्कूल अभी बंद हैं
हिमाचल में कॉलेज तो खुल गए हैं. लेकिन स्कूल चार सितंबर तक बंद हैं. इससे पहले, अगस्त के शुरुआत में सरकार ने स्कूल खोले थे, लेकिन कोरोना के मामले सामने आने के बाद स्कूलों को बंद कर दिया गया था. करीब 25 दिन से सूबे के स्कूल बंद हैं. अगली कैबिनेट मीटिंग में स्कूलों को खोलने को लेकर फैसला हो सकता है. वहीं, बता दें कि हिमाचल में रोजाना 200 कोरोना मामले सामने आ रहे हैं. हालांकि, सरकार की ओर से कोरोना की सैंपलिंग आधी कर दी गई है. पहले 20 हजार के करीब टेस्ट हो रहे थे, लेकिन अब दस हजार के करीब टेस्टिंग हो रही है.

error: Content is protected !!