करसोग में मंत्री के आदेश पर चार्ज शीट तैयार, पूर्व अधिशाषी अभियंता की बाढ़ सकती है मुश्किलें

Himachal News: जलशक्ति मंडल करसोग के पूर्व अधिशाषी अभियंता की मुश्किलें बढ़ गई हैं। जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह की ओर से दिए गए चार्जशीट करने के आदेशों के बाद उसकी रिपोर्ट तैयार कर मुख्य अभियंता ने रिपोर्ट तैयार कर शिमला भेज दी है। इसमें अधिशाषी अभियंता की ओर से कार्य में कोताही की बात सामने आई है। 10 जून को जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह अपने दौरे पर करसोग गए थे। वहां पर लोगों ने जल शक्ति विभाग के अधिशाषी अभियंता अशोक भूपल के खिलाफ सही से कार्य न करने की शिकायत की थी। जलजीवन मिशन के तहत कार्यों भी अधूरे होने पर मंत्री खफा हो गए थे और उनके द्वारा पूछे जाने पर अधिकारी संतोष जनक जवाब भी नहीं दे पाए थे।

ऐसे में मंत्री ने मौके पर ही उनको चार्जशीट कर जांच के आदेश दिए थे। साथ ही उनक तबादला भी शिमला कर दिया गया था। वहीं मंडी सर्कल के मुख्य अभियंता ने अब चार्जशीट मामले की जांच 17 दिनों में पूरी कर शिमला भेज दी है। सूत्र बताते हैं कि जांच रिपोर्ट में अधिशाषी अभियंता पर काम को सही से न करने और कोताही बरतने का जिक्र है। ऐसे में उनकी दिक्कत और बढ़ जाएगी।

अब रिपोर्ट के आधार पर उनके वेतन भत्तों को भी रोका जा सकता है। साथ ही इसमें सजा का भी प्रावधान है। मंडी सर्कल के मुख्य अभियंता ई. धर्मेंद्र गिल ने बताया कि करसोग के पूर्व अधिशाषी अभियंता की चार्जशीट रिपोर्ट तैयार कर उच्चाधिकारियों को भेज दी गई है।

जल शक्ति विभाग में 11 अधिकारियों के तबादले

शिमला। जल शक्ति विभाग में 11 अधिशासी अभियंता के तबादले हुए हैं। राकेश कुमार वैद्य को कसुम्पटी से बिलासपुर, अरविंद वर्मा को बिलासपुर से ईएनसी दफ्तर शिमला (स्टोर परचेज), रवि कांत को ईएनसी दफ्तर शिमला से सोलन, सुमित सूद को सोलन से रिकांगपिओ, तिलकराज को रिकांगपिओ से नोहराधार, मोहम्मद अर्शद रहमान को नोहराधार से चंबा, दिनेश कपूर को चंबा से शिमला, रजनीश ओंकार को शिमला से कसुम्पटी, विपन कुमार को शिलाई से फतेहपुर, सुशील चंद को फतेहपुर से धर्मशाला और राजेश कुमार को धर्मशाला से शिलाई भेजा है।

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!