सिविल हॉस्पिटल सराहा में छत का प्लास्टर गिरा, दो महिला मरीज घायल

नाहन। Civil Hospital Sarahan, जिला सिरमौर में प्रदेश सरकार के बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के दावे एक बार फिर खोखले नजर आ रहे हैं। जिला सिरमौर के पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के सिविल अस्पताल सराहा में शनिवार देर शाम को पुराने भवन में चलाए जा रहे अस्पताल भवन की छत का पलस्‍तर एकाएक गिरने लगा। छत से गिरी पलस्‍तर की मोटी परत से बुजुर्ग महिला सहित एक अन्य महिला घायल हो गई हैं।

बता दें कि सराहां सिविल अस्पताल की नई बिल्डिंग को जिला प्रशासन ने मार्च 2020 में कोविड-19 सेंटर बना दिया था। इसके बाद से सिविल अस्पताल सराहां को पुराने भवन में चलाया जा रहा है। यह भवन कई वर्षों पहले बना है, जोकि असुरक्षित हो चुका है। लोक निर्माण विभाग भी अस्पताल के इन पुराने भवनों को असुरक्षित घोषित कर चुका है। लेकिन फिर भी पिछले दो वर्षों से सिविल अस्पताल सराहां असुरक्षित भवनों में चलाया जा रहा है, क्योंकि अस्पताल के नए ब्लाक को डेडीकेटेड कोविड-19 सेंटर बनाया गया है।

अब इस असुरक्षित भवन से जहां पलस्तर गिरना शुरू हो गया है। वहीं यह भवन भी कभी भी धराशायी हो सकता है। जिसमें कई रोगियों की जान पर आफत बन सकती है। लेकिन प्रदेश सरकार फिर भी आंखें मूंदे हुई है। अस्पताल में 30 बेड की क्षमता है, जबकि इन दिनों अस्पताल के प्रत्येक बेड पर दो से 3 मरीज दाखिल किए गए हैं, क्योंकि यह अस्पताल 40 पंचायतों का एकमात्र अस्पताल है। पच्छाद उपमंडल की 34 पंचायतों के अतिरिक्त नाहन, श्रीरेणुकाजी विस तथा हरियाणा के मोरनी क्षेत्र की 5 पंचायतों के हजारों लोग सिविल अस्पताल सराहा में प्रतिदिन इलाज के लिए आते हैं।

पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में खांसी, जुखाम, बुखार व पेट दर्द आदि के मरीजों की संख्या बढ़ने से अस्पताल में लगे 27 बेड पर 55 से ज्यादा मरीज दाखिल हैं। अस्पताल प्रशासन के पास न तो पूरा स्टाफ है, न ही अस्पताल में अन्य सुविधाएं हैं। विदित रहे कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सराहां अस्पताल को 100 बेड करने, इसके अनुसार स्टाफ तथा आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने की घोषणा की है।

उधर जिला सिरमौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाक्‍टर संजीव सहगल ने बताया अस्पताल भवन की छत का पलस्‍तर गिरने से यदि मरीजों को चोटें लगी हैं, तो उनका निशुल्क उपचार किया जाएगा। साथ ही इस संदर्भ में बीएमओ से जानकारी मांगी जाएगी। वही जब तक सराहां अस्पताल में कोविड का कोई रोगी नहीं आता। तब तक नए अस्पताल के एक फ्लोर को जनरल वार्ड में उपयोग करने के आदेश बीएमओ को दे दिए हैं।

error: Content is protected !!