कांगड़ा में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के साथ हुए जातिगत व्यवहार की कड़ी निंदा

अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला कांगड़ा के अध्यक्ष अजय खट्टा महासचिव मिलाप भंडारी ने उपमंडल नूरपुर के स्वास्थ्य उपकेंद्र छत्र में कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ता विजय लक्ष्मी और आशा, वार्ड पंच पर किए गए अभद्र व्यवहार की कड़ी निंदा की है। उक्त नेताओं ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और स्वास्थ्य मंत्री राजीव सहजल, जिलाधीश कांगड़ा से मांग की है कि इस मामले की जांच करवाई जाए और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए।

इस समय पूरा देश व प्रदेश कोरोना महामारी से जूझ रहा है और स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मचारी व अधिकारी (कोरोना वारियर्स) दिन रात अपनी व अपने परिवार की परवाह किए बगैर लोगों कि सेवा में जुटे हुए है।

कोरोना महामारी के समय मे स्वास्थ्य कार्यकर्ता व आशा कार्यकर्ता लोगों के घर-घर जाकर उनका कुशल क्षेम पूछ रहे है और उन्हें दवाइयां उपलब्ध करवा रहे है। जिन मरीजों की स्तिथि ज्यादा खराब होती है उन्हें कोविड केअर सेंटर में शिफ्ट करवाने का काम स्वास्थ्य कार्यकर्ता बखूबी निभा रहे हैं और दूसरी तरफ ऐसे लोग स्वास्थ्य कर्मियों और आशा पर अभद्र टिप्पणी कर रहे है जोकि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। संघ ऐसे लोगों की कड़ी निंदा करता है और सरकार से मांग है करता है कि ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए तांकि भविष्य में लोगों को भी सबक मिल सके। जिला कांगड़ा अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष अजय खट्टा ने कहा हमें पूर्ण विश्वास है वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए कोविड महामारी के दौरान सेवा में कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ता (कोरोना योद्धाओं )की सुरक्षा जिलाधीश सुनिश्चित करेंगे।

Please Share this news:
error: Content is protected !!