सोशल मीडिया में देश के प्रथम मतदाता की मौत की झूठी खबर फैलाने वाले पर मामला दर्ज

24 नवम्बर को देश के प्रथम मतदाता श्याम शरण नेगी की मृत्यु की झूठी खबर सोशल मीडिया में काफी वायरल हुई थी। इस पर जिला प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए एक व्यक्ति के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर किया है ताकि ऐसे लोगों को सबक सिखाया जा सके। गौरतलब है कि देश के प्रथम मतदाता मास्टर श्याम सरण नेगी की मृत्यु की झूठी खबर सोशल मीडिया में दूसरी बार वायरल हुई है। इससे पूर्व 18 नवम्बर को श्याम शरण नेगी की मृत्यु की झूठी खबर वायरल हुई थी।

देश के प्रथम मतदाता श्याम सरण नेगी की मौत की झूठी खबरों को बार-बार सोशल मीडिया पर फैलाने को लेकर डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने कहा कि 2 दिन पहले सोशल मीडिया पर श्याम सरण नेगी के नाम पर फेक न्यूज अपलोड हुई थी, जिसे सोशल मीडिया में काफी वायरल किया गया, जिसके कारण दहशत पैदा हुई। उन्होंने कहा कि 10 दिन पहले भी मास्टर श्याम सरण नेगी के नाम पर फेक न्यूज चलाई गई थी जोकि अब एक ब्रॉड इश्यू बन गया था, जिस पर कड़ा संज्ञान लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसी से एक बार गलती हो सकती है परंतु बार-बार करना वो गलती नहीं होती है तथा इस झूठी ख्बर से श्याम सरण नेगी के परिवार को भी गहरा धक्का लगा है।

डीसी ने कहा कि पुलिस विभाग को आईटी एक्ट के तहत ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं तथा एक व्यक्ति को आइडैंटिफाई भी किया गया है, जिससे पुलिस द्वारा पूछताछ की जाएगी व उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ताकि ऐसे झूठी खबर फैलाने वालों को सबक मिल सके। उन्होंने कहा कि ऐसे फेक न्यूज चलाने वालों के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं एसडीपीओ भावानगर राजू ने बताया कि आईटी एक्ट के तहत किन्नौर पुलिस द्वारा एक व्यक्ति के खिलाफ 505 (2) का मामला दर्ज किया गया है तथा फेक न्यूज वारयल करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए एएसआई लायकराम को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!