भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक 24 से 26 नवंबर तक शिमला में होना तय

शिमला: भारतीय जनता पार्टी हिमाचल प्रदेश की प्रदेश कार्यसमिति बैठक की तैयारियों को लेकर संचालन समिति की बैठक भाजपा मुख्यालय दीपकमल चक्कर शिमला में प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

बैठक में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, प्रदेश महामंत्री त्रिलोक जम्वाल, प्रदेश संगठन महामंत्री पवन राणा, हिमफैड के चेयरमैन गणेश दत्त, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं खादी बोर्ड के उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम गुलेरिया, गुडिय़ा सक्षम बोर्ड की चेयरमैन रूपा शर्मा, प्रदेश सचिव पायल वैद्य, जिलाध्यक्ष रवि मैहता सहित संचालन समिति के सदस्य उपस्थित रहे। भाजपा महामंत्री त्रिलोक जम्वाल ने बताया कि भाजपा प्रदेश कार्यसमिति बैठक का आयोजन 24, 25 एवं 26 नवम्बर को होटल पीटरहॉफ में होने जा रहा है। प्रथम दिन 24 नवम्बर को कोर ग्रुप की बैठक का आयोजन किया जाएगा, जिसकी अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप करेंगे।

ये होंगे बैठक में उपस्थित

इस बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं क्षेत्रीय प्रभारी सौदान सिंह, प्रभारी अविनाश राय खन्ना, सह प्रभारी संजय टंडन, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर सहित कोर गु्रप के सदस्य उपस्थित रहेंगे। दूसरे दिन 25 नवम्बर को प्रात: विस्तारित कोर गु्रप की बैठक होगी, जिसके बाद प्रदेश पदाधिकारी बैठक का आयोजन किया जाएगा। 26 नवम्बर को प्रदेश कार्यसमिति की बैठक होगी। बैठक में पूर्व कार्यक्रमों की समीक्षा एवं आगामी कार्यक्रमों को लेकर विचार-विमर्श किया जाएगा।

उपचुनाव में हार के बाद बैठक को माना जा रहा अहम

उपचुनाव में भाजपा की चारों सीटों पर करारी हार के बाद इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं क्षेत्रीय प्रभारी सौदान सिंह प्रमुख तौर पर उपस्थित रहेंगे, इसके अलग से मायने देखे जा रहे हैं। सभी प्रमुख नेताओं के बैठक में भाग लेने से इसमें विशेष तौर पर बीते उपचुनाव में हार के कारणों पर मंथन किया जाएगा। भाजपा सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बैठक में चर्चा की रिपोर्ट केंद्रीय आला कमान को सौंपी जाएगी। उसके बाद ही सत्ता व संगठन में फेरबदल की संभावना देखी जा रही है। अभी हाल ही में राज्य सरकार के 2 मंत्री राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के पास अपनी सफाई देकर आए हैं। वहीं शिक्षा मंत्री गोविंद राम ठाकुर भी अपने क्षेत्र से इस उपचुनाव में बढ़त नहीं दिला पाए। बैठक में ऐसे नेताओं पर भी कार्रवाई होने की उम्मीद है, जिन्होंने इस उपचुनाव में पार्टी के विरुद्ध कार्य किया। ऐसे भीतरघातियों पर भी पार्टी कड़ी कार्रवाई अमल में लाएगी, ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में ऐसे लोगों को दूर रखा जा सके। इसके अलावा आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बैठक में एक रोड मैप भी तैयार किया जाएगा, जो विधानसभा चुनाव में फिर से एक बार पार्टी को सत्ता में ला सके।

Please Share this news:
error: Content is protected !!