अटल टनल से एक साल में साढ़े छह लाख वाहन हुए आर पार, चार गुना बढ़ा ट्रैफिक

सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण और देश-विदेश के सैलानियों का आकर्षण बनी अटल टनल रोहतांग का लोकार्पण हुए रविवार को एक साल का समय पूरा हो गया है। तीन अक्तूबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल टनल देश को समर्पित की थी।

अटल टनल रोहतांग से लाहौल जाना बेहद आसान हो गया है। इससे सेना को भी मदद मिली है। 13050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रा के मुकाबले अटल टनल रोहतांग से ट्रैफिक चार गुना अधिक बढ़ा है।

अटल टनल खुलने से पहले रोहतांग दर्रा होकर जनवरी 2020 से दो अक्तूबर 2020 तक एक लाख 63 हजार 53 वाहन आर-पार हुए। इनकी हर दिन औसत 590 तक रही। अटल टनल के उद्घाटन के बाद दो अक्तूबर, 2021 तक 6 लाख 49 हजार 87 वाहनों की आवाजाही हुई। अक्तूबर 2020 में 57099, नवंबर में 38496, दिसंबर में 44533, जनवरी 2021 में 8295, फरवरी में 9934, मार्च में 62122, अप्रैल में 50905, मई में 14235, जून में 59739, जुलाई में सबसे अधिक एक लाख 22090, अगस्त में 95643, सितंबर में 90147 और दो अक्तूबर तक 5849 वाहन टनल से आर-पार हुए।

पुलिस अधीक्षक मानव वर्मा ने कहा कि अटल टनल रोहतांग खुलने के बाद रोजाना चार गुना ट्रैफिक बढ़ा है। टनल के लोकार्पण के बाद एक साल में ही इस टनल से साढ़े छह लाख के करीब वाहन आर-पार हुए हैं। उन्होंने कहा कि अटल टनल में सुरक्षा के लिहाज से पर्यटकों और आम लोगों के लिए कुछ दिशा-निर्देशों का पालन करना जरूरी है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!