करोड़ों की ठगी करने वाला आढ़ती मुम्बई से गिरफ्तार, 20 से 25 आढ़तियों और बैंकों के साथ की है धोखाधड़ी

शिमला: सेब बागवानों से हुई ठगी के मामलों की जांच में जुटी एस.आई.टी. को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। इसके तहत जांच टीम ने मुंबई से करोड़ों रुपये की ठगी के आरोपों से घिरे एक आढ़ती को गिरफ्तार किया है।

जिला शिमला के जुब्बल से संबंध रखने वाले संदीप मैहता (सैंडी) पर कई बागवानों के साथ ही आढ़तियों और बैंकों से भी ठगी किए जाने का आरोप है। पिछले काफी लंबे से एस.आई.टी. को उक्त आरोपित की तलाश थी। ऐसे में जांच एजैंसी ने उसकी धरपकड़ के लिए मुम्बई में अपना जाल बिछाया हुआ था। मुम्बई से आढ़ती को गिरफ्तार कर सोलन लाया गया है। वह पिछले 3-4 सालों से मुम्बई में रह रहा था। सूचना के अनुसार एस.आई.टी. के पास 20 से 25 बागवानों व आढ़तियों द्वारा आरोपित के खिलाफ ठगी की शिकायतें दर्ज करवाई थीं। इसी तरह 3 से 4 बैंकों के साथ भी धोखाधड़ी करने का आरोप है और कुछ बैंक उसे डिफाल्टर भी घोषित कर चुके हैं। सूत्रों के अनुसार आढ़ती पर अलग-अलग मामलों के तहत करीब 7 से 8 करोड़ की ठगी करने का आरोप है।

ठगी के बाद मुम्बई चला गया
आरोपित सोलन में आढ़त चलाता था और कई बागवानों, आढ़तियों व बैंकों के साथ ठगी करने के बाद वह मुम्बई चला गया है। ऐसे में जब एस.आई.टी. को उसके खिलाफ शिकायतें मिलीं तो जांच में उसके कारनामों की पोल भी खुलते गई। अब तक की जांच के अनुसार आरोपित आढ़ती पर 70 से 80 बागवानों के साथ ठगी करने का आरोप है।

14 से 15 केसों में उद्घोषित अपराधी
जांच अधिकारियों की मानें तो आढ़ती ने कई बागवानों को चैक दिए, जो बाद में बाऊंस हो गए। ऐसे में आरोपित के खिलाफ कई सिविल सूट के मामले भी चल रहे हैं। अधिकारियों के अनुसार 14 से 15 मामलों में उसे उद्घोषित अपराधी घोषित किया गया है।

क्या बोले, एस.पी. सी.आई.डी. वीरेंद्र कालिया
एस.पी. सी.आई.डी. व एस.आई.टी. के मुखिया वीरेंद्र कालिया ने मुम्बई से आढ़ती संदीप सैंडी को गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आढ़ती पर करोड़ों रु पए की ठगी के आरोप हैं। इसके साथ ही कई मामलों में वह उद्घोषित अपराधी भी घोषित किया गया है।

error: Content is protected !!