Treading News

Apple Season in Himachl: बीबीएन के गत्ता उद्योग इस बार 40 फीसदी अधिक सेब के कॉर्टन बॉक्स करेंगे तैयार

RIGHT NEWS INDIA: बीबीएन के गत्ता उद्योग इस बार 40 फीसदी अधिक सेब के कॉर्टन बॉक्स तैयार करेंगे। बीते दो साल में इन उद्योगों में 2.50 करोड़ पेटियां तैयार की गई थीं, लेकिन इस बार चार करोड़ पेटियां तैयार करने का लक्ष्य रखा है।

संचालकों के पास मांग आनी शुरू हो गई है। अधिक कॉर्टन बिकने से गत्ता संचालकों के कोरोना काल की मंदी से उबरने की उम्मीद जगी है। प्रदेश में 250 गत्ता उद्योग हैं। वर्ष 2020 और 2021 में कोरोना संक्रमण के चलते गत्ते की पेटियों की कम मांग आई थी।

इस बार सेब सीजन शुरू होते ही संचालकों के पास कॉर्टन बॉक्स की मांग आनी शुरू हो गई है। ज्यादातर मांग उन बागवानों की है, जिनका हजारों पेटियों के हिसाब से सेब उत्पादन होता है। कॉर्टन बॉक्स की मांग एजेंटों के माध्यम से भी आ रही है। एचपीएमसी की सोसायटियां भी ऑर्डर करती हैं। वह बागवानों को कॉर्टन बॉक्स सप्लाई करती हैं। उधर, गत्ता उद्योग संघ के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र जैन ने बताया कि लगातार दो साल से गत्ता संचालकों का सेब सीजन मंदा रहा था। इस बार वह 40 फीसदी तक अधिक कॉर्टन बॉक्स तैयार करेंगे।

कहा कि बाहरी राज्यों के गत्ता संचालक बिना बिल के गत्ते की सस्ती पेटियां बागवानों तक पहुंचा रहे हैं, जबकि प्रदेश के गत्ता संचालकों को जीएसटी लगाकर बिल देना पड़ता है। बागवानों के पास जीएसटी नंबर न होने से बॉक्स पर लगने वाले जीएसटी उन्हें रिफंड नहीं होता। सरकार को कृषि और बागवानी उत्पादों पर जीएसटी नहीं लगाना चाहिए। संघ के प्रदेश अध्यक्ष आदित्य सूद ने बताया कि बाहर से नंबर दो में आने वाले बॉक्स पर सरकार रोक लगाए। अन्यथा, जो उत्पादक बिल पर काम करते हैं, उनके बॉक्स नहीं बिकेंगे।

Comments: