Diwali Alert: दिवाली को लेकर अलर्ट जारी, शिमला में इन 14 स्थानों पर ही बिकेंगे पटाखे

शिमला. राजधानी शिमला (Shimla) में दिवाली पर्व को लेकर जिला प्रशासन ने कमर कस ली है. जिला शिमला में दिवाली को लेकर जहां पटाखों की बिक्री (Sale Of Firecrackers) के लिए खुले स्थान चिंहित (Location Marked) कर दिए गए हैं, वहीं किसी भी आगजनी की घटना से निपटने के लिए भी अग्निशमन विभाग को अलर्ट पर रखा गया है. साथ ही सभी एसडीएम को भी अपने स्तर पर इससे सम्बंधित सभी तैयारियां करने को कहा गया है.

दिवाली (Diwali) के दौरान बाजारों में उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए दुकानदारों से कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने को कहा गया है. वहीं, आम जनता से भी जिला प्रशासन ने अपील की है कि वे कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें और जरूरत पड़ने पर ही बाजार का रुख करें.

इन दिनों बाज़ार में त्योहारी सीजन के चलते लोगों की भारी भीड़ जुट रही है. शिमला के लोअर बाजार में दुकानदारों ने सड़कों पर दुकानें सजा रखी हैं. और इस कारण लोगों को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है. वहीं, किसी भी आपदा की स्थिति में बाजार से वाहन का निकलना भी मुश्किल हो रहा है. पिछले दिनों ऐसा ही एक मामला लोअर बाजार में घटा, जब एक एम्बुलेंस इसी अतिक्रमण के कारण बाजार में फंस गई और बड़ी मुश्किल से इसे निकाला जा सका. ऐसे में जिला प्रशासन और नगर निगम प्रशासन के समक्ष यह चुनौती है कि ऐसी स्थिति में आम जनता को आ रही मुश्किलों से कैसे राहत दिलाई जाए.

प्रशासन ने पहले ही तैयारी कर ली है
उधर, डीसी शिमला आदित्य नेगी ने बताया कि दीवाली पर्व को लेकर प्रशासन ने पहले ही तैयारी कर ली है. उन्होंने कहा कि पूर्व की तरह शहर के चुनिंदा स्थलों पर ही पटाखों और आतिशबाजी बेचने की अनुमति है, ताकि किसी भी अप्रिय घटना को अंजाम न दिया जा सके. उन्होंने बताया कि शहर के 14 स्थानों पर ही पटाखों की बिक्री होगी. इसके लिए पूर्व में ही प्रशासन से अनुमति लेनी होगी. डीसी शिमला ने फायर ब्रिगेड और एमसी शिमला को अलर्ट पर रहने के आदेश दिए हैं.

आगजनी की दृष्टि से संवेदनशील भी है बाजार
राजधानी शिमला का लोअर बाजार, राम बाजार और गंज बाजार आगजनी की दृष्टि से काफी संवेदनशील है. यहां पर जहां बाजार तंग हैं, वहीं पुराने भवन होने के कारण आग लगने का बराबर अंदेशा बना रहता है. इन हालात में खासकर दीवाली के समय में फायर ब्रिगेड के कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी रहती है. इससे पूर्व में भी कई दफा दिवाली के दौरान ही आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं.

Please Share this news:
error: Content is protected !!