80 साल के बुजुर्ग कर सकेंगे पोस्टल मतदान, मंडी में हुआ आचार सहिंता का उल्लंघन

शिमला। Himachal By Election, हिमाचल प्रदेश में उपचुनावों को सही तरीके से संचालित करवाने के लिए छह पैरा मिलिट्री फोर्स की कंपनियां तैनात रहेंगी। यह मतदाताओं को निर्भीक होकर मतदान करने के लिए प्रेरित करेंगे। सीइओ सी पालरासू ने पत्रकारों से बात करते हुए इस आशय की जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कर्मचारियों के खिलाफ कई शिकायतें आई हैं। यह शिकायतें कर्मचारी जो पिछले तीन साल से एक ही जगह पर सेवाएं दे रहे हैं, उनसे जुड़ी हुई हैं। 12 शिकायतें अभी लंबित पड़ी हुई हैं व उनकी जांच चल रही है।

मंडी संसदीय सीट सहित तीन विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव हो रहा है। इसमें 15 लाख से अधिक मतदाता मतदान करेंगे। 80 साल से अधिक और विशेष श्रेणी के लोगों के लिए पोस्टल मतदान करने की सुविधा प्राप्त होगी। इनकी संख्या 50000 से अधिक है।

देश के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी ने पोस्टल मतदान की सुविधा स्वीकार करने के बजाय, स्वयं मतदान केंद्र पर जाकर मतदान करने का निर्णय लिया है। पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान जिला उपायुक्त किन्नौर उन्हें स्वयं घर लेने गए थे और मतदान करवाया था। उसके बाद उन्हें वापस घर छोड़ा गया था।

कांग्रेस ने चुनाव आयोग को शिकायत की है कि भाजपा ने इंटरनेट मीडिया पर प्रचार माध्यम में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है। इस मामले को लेकर सी पालरासू ने कहा कि डीजीपी को जांच के लिए मामला भेजा गया है। एक दूसरा मामला मंडी संसदीय क्षेत्र से आया है, जहां पर कांग्रेस प्रत्याशी की ओर से कहा गया है कि एक व्यक्ति द्वारा सेना के चिन्ह का उपयोग किया जा रहा था। इस मामले की जांच केंद्रीय चुनाव आयोग को भेजी गई है।

error: Content is protected !!